एसडीआईएमटी में धूमधाम से मनाया गया बाल दिवस


 हरिद्वार। स्वामी दर्शनानन्द इंस्टिट्यूट ऑफ मैंनेजमंेट एण्ड टैक्नोलॉजी में बाल दिवस धूमधाम से मनाया गया। संस्थान की डायरेक्टर डा.जयलक्ष्मी ने बताया कि 14 नवंबर 1889 को इलाहबाद में पडित जवाहर लाल नेहरू का जन्म हुआ था और पं.जवाहरलाल नेहरू स्वतंत्रत भारत के पहले प्रधानमंत्री बने। जिनके मन मंे बच्चों के लिए अपार प्यार और सम्मान था और वह उन्हें देश का भविष्य मानते थे। जिस वजह से उन्हें चाचा नेहरू के नाम से भी जाना जाता है। यही वजह रही कि भारत की संसद में उनके जन्मदिन 14 नवम्बर को भारत में बाल दिवस के रूप मंे मनाने का फैसला किया। प्रतिवर्ष बाल दिवस मनाने का मकसद पंण्डित नेहरू को श्रद्धांजलि देने के साथ-साथ बच्चों को उनके अधिकारों और शिक्षा के प्रति जागरूक करना भी है। इस अवसर पर संस्थान की फैकल्टी कॉर्डिनेटर अंजुम सिद्दिकी एवं दीप्ती चौहान व अन्य शिक्षकों द्वारा विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित की गयी।ं अंताक्षरी, नृत्य संगीत, वाद-विवाद गोष्ठी एवं भाषण प्रतियोगिताओं मंे छात्र-छात्राओं ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया। जिनमें शगुन दीक्षित,संजना,महिमा बिटोलिया,जानकी,खुशी त्यागी, अनुराग, साक्षी, हिना, आदित्य,तुषार,नैनसी,निखिल,दिव्यांशु,आदर्श,आशुतोष,अंशुल,आंकाक्षा ने भाग लिया। इस अवसर पर संस्थान के महानिदेशक प्रो.एससी धमीजा ने बच्चों को आर्शीवाद दिया। संस्थान के अध्यापकों में प्रधानाचार्य अशोक कुमार गोतम,डीन डा.राहुल,मितांषी,प्रिंयका,शादाब,कृति चुग, रितिका कौशिक,वीरेन्द्र राय,अभिलाषा,वर्षा वर्मा,उमिशा,उमेश,अनुराग,देवेन्द्र रावत,प्रशांत,धरणीधर वाग्ले आदि उपस्थित रहे।