सरकारी भूमि पर से अतिक्रमण हटाना 15नवम्बर तक सुनिश्चित करे- जिलाधिकारी

 


हरिद्वार। जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय की अध्यक्षता में शुक्रवार को कलक्ट्रेट सभागार में अतिक्रमण के सम्बन्ध में एक बैठक आयोजित हुई। जिलाधिकारी को बैठक में अपर जिलाधिकारी(प्रशासन) पी0एल0 शाह ने पूर्व में शासकीय भूमि,सम्पत्तियों से अनधिकृत कब्जा हटाये जाने,चिह्नित किये जाने के सम्बन्ध में दिये गये निर्देशों के क्रम में अब तक की अद्यतन स्थिति से अवगत कराया। उन्होंने जानकारी दी कि अधिकतर विभागों ने उनके विभाग की जमीन पर अतिक्रमण है अथवा नहीं है, के सम्बन्ध में विवरण उपलब्ध करा दिया है, लेकिन कतिपय विभागों द्वारा अभी तक उनके विभाग की जमीन पर अतिक्रमण होने या न होने के सम्बन्ध में प्रमाण पत्र उपलब्ध नहीं कराया है। इस पर जिलाधिकारी ने सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे आज ही उनके विभाग की जमीन पर अतिक्रमण है अथवा नहीं है, के सम्बन्ध में प्रमाण पत्र देना सुनिश्चित करें अन्यथा की स्थिति में सम्बन्धित का वेतन जारी नहीं किया जायेगा।बैठक में जिलाधिकारी ने उन विभागों के अधिकारियों, जिन्होंने उनके विभाग की सम्पत्ति पर अनधिकृत कब्जा होने की सूचना दी है, को निर्देशित किया कि वे दीपावली सेे पूर्व एक बैठक आयोजित करके अतिक्रमण हटाने की कार्य योजना तैयार कर लें। तत्पश्चात उन्हें नोटिस उपलब्ध कराते हुये चरणबद्ध ढंग से पूरी तैयारी के साथ आगामी 01 से 15 नवम्बर तक अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि अतिक्रमण हटाने के लिये पूरी टीम-चाहे पुलिस बल हो,पीएसी हो या जेसीबी आदि उपकरणों की तैनाती हो,सभी प्रकार के संसाधन उपलब्ध कराये जायेंगे। बैठक में जिलाधिकारी ने सभी एसडीएम को ये भी निर्देश दिये कि वे अपने-अपने क्षेत्रों के प्रमुख बाजारों में हुये अतिक्रमण पर भी नियमानुसार कार्रवाई करना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने इसके पश्चात अधिकारियों से हरिद्वार शहर में कहां-कहां अतिक्रमण चिह्नित किये गये है, के सम्बन्ध में विस्तृत चर्चा की। जिस पर अधिकारियों ने जानकारी दी कि 74 स्थानों पर अतिक्रमण चिह्नित किये गये हैं। इस पर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि कल 11 बजे से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई करना सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देश दिये कि अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई सम्बन्धित विभागों की सामूहिक जिम्मेदाारी है, यह टीम वर्क है तथा अतिक्रमण हटाने में सभी सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहेंगे। जिलाधिकारी ने बैठक में पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि अतिक्रमण हटने के बाद अगर कहीं पर पुनः अतिक्रमण होता है,तो इसके लिये सम्बन्धित क्षेत्र के पुलिस अधिकारी जिम्मेदार होंगे। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी प्रतीक जैन, अपर जिलाधिकारी(वित्त एवं राजस्व) बीर सिंह बुदियाल, अपर जिलाधिकारी(प्रशासन) पी0एल0 शाह,सचिव एचआरडीए उत्तम सिंह चौहान,सिटी मजिस्ट्रेट अवधेश कुमार सिंह,एमएनए दयानन्द सरस्वती, एसडीएम पूरण सिंह राणा, एसडीएम भगवानपुर वैभव गुप्ता,विशेष भूमि अध्याप्ति अधिकारी बृजेश तिवारी,उप जिलाधिकारी सुश्री नूपुर वर्मा, आरएम सिडकुल गिरधर रावत,अधिशासी अभियंता लोक निर्माण सुरेश तोमर,अधिशासी अभियन्ता सिंचाई सुश्री मंजू, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी राजीव गर्ग,अधिशासी अधिकारी नगर निगम,नगर पंचायत सहित सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे।