हर घर तिरंगा अभियान गरीब ग्रामीण महिलाओं के लिए बन रहा है रोजगार का साधन


 हरिद्वार। आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हर घर तिरंगा अभियान हरिद्वार जनपद में ग्रामीण क्षेत्र की गरीब महिलाओं के लिए रोजगार का साधन बन रहा है वही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत को ही यह अभियान सफल बनाने का एक बड़ा साधन बना हुआ है और हरिद्वार जिले के गांव-गांव में युवाओं, महिलाओं, बड़े बूढ़ों लोगों में देशभक्ति के जज्बे का संचार कर रहा है। प्रधानमंत्री का हर घर तिरंगा आत्म निर्भर भारत बनाने की दिशा में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। हरिद्वार जनपद के ग्रामीण क्षेत्रों में ग्रामीण आजीविका मिशन के इस तहत ग्रामीण गरीब महिलाओं के स्वयं सहायता समूह हर घर तिरंगा अभियान को गांव-गांव तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। हरिद्वार के जमालपुर,गाजीवाली श्यामपुर गांवों तथा अन्य क्षेत्रों में स्थित स्वयं सहायता समूह के केंद्रों में गरीब महिलाएं सामूहिक रूप से राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा बना रही है और इनको कॉलेजों में तथा अन्य संस्थानों में उपलब्ध कराया जा रहा है जिससे इन महिलाओं को रोजगार मिल रहा है। साथ ही उनके और उनके परिवार के भीतर राष्ट्रीय भक्ति का जज्बा हिलोरे मार रहा है। हरिद्वार के जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय और मुख्य विकास अधिकारी प्रतीक जैन के नेतृत्व में हरिद्वार जनपद में शहर और गांव में हर घर तिरंगा अभियान जोर शोर से चलाया जा रहा है उनके संरक्षण और मार्गदर्शन में राष्ट्रीय आजीविका मिशन हरिद्वार जनपद में हर घर तिरंगा अभियान को गांव-गांव घर-घर पहुंचाने में बेहद सफल भूमिका निभा रहा है। हरिद्वार के रेलवे स्टेशन में भी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने उत्तराखंड के पारंपरिक और ग्रामीण उत्पादों और रक्षा सूत्र के स्टॉल के साथ राष्ट्रीय ध्वज के स्टाल भी लगाए हैं जो लोगों को रोजगार के साथ-साथ राष्ट्रभक्ति का संदेश भी देने में सफल हो रहे हैं। राष्ट्रीय आजीविका मिशन हरिद्वार जनपद की सहायक परियोजना निदेशक सुश्री नलिनीत घिल्डियाल का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हर घर तिरंगा अभियान को हरिद्वार के जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय एवं मुख्य विकास अधिकारी प्रतीक जैन के सफल नेतृत्व और मार्गदर्शन में हर घर तिरंगा अभियान ग्रामीण महिलाओं के लिए प्रेरणा स्रोत बना हुआ है और रोजगार के साधन के साथ-साथ राष्ट्रीय भावना को भी जागृत कर रहा है। रेलवे स्टेशन हरिद्वार में स्वयं सहायता समूह का स्टाल लगाने वाली स्वरोजगार ग्राम संगठन गाजीवाला श्यामपुर की अंजू पाल कहती है कि हर घर तिरंगा अभियान हमारे लिए वरदान साबित हुआ है जहां इससे हम गरीब महिलाओं को रोजगार मिल रहा है वही राष्ट्रभक्ति की भावना भी अत्यधिक बलवती हो रही है। जमालपुर गांव की सरस महिला केंद्र की संचालिका विमला जोशी का कहना है कि का कहना है कि हमारे लिए हर घर तिरंगा अभियान जहां राष्ट्र भक्ति का जज्बा जगा रहा है वही गरीब महिलाओं के लिए रोजगार और आत्मनिर्भरता का सबसे बड़ा साधन बना हुआ है गरीब महिलाएं सामूहिक रूप से राष्ट्रीय ध्वज के सिलने का काम करती हैं और उन्हें घर घर पहुंचाया जा रहा है यह कदम भारत को आत्मनिर्भरता की ओर ले जा रहा है। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के घर-घर तिरंगा अभियान से डीपीएस रानीपुर बी एच ई एल हरिद्वार भी जुड़ गया है और इस अभियान के अंतर्गत डीपीएस के छात्र छात्राओं को स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाएं राष्ट्रीय ध्वज उपलब्ध करा रही हैं। डीपीएस रानीपुर बीएचईएल के प्रिंसिपल डॉ अनुपम जग्गा का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हर घर तिरंगा अभियान ग्रामीण गरीब महिलाओं को रोजगार उपलब्ध करा रहा है और भावी पीढ़ी में राष्ट्रीय भावना का जज्बा पैदा कर रहा है प्रधानमंत्री का यह कदम राष्ट्र निर्माण में मील का पत्थर साबित होगा हरिद्वार प्रशासन राष्ट्रीय आजीविका मिशन के माध्यम से इस अभियान को धार दे रहा है।