भक्तों का कल्याण करते हैं भगवान शिव-श्रीमहंत रविन्द्रपुरी

 


हरिद्वार। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के सचिव श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने सावन के तीसरे सोमवार पर चरण पादुका स्थित मनशेश्वर महादेव मंदिर में विशेष पूजा अर्चना कर विश्व कल्याण की कामना की। सावन के समापन तक मंदिर में निरंतर भगवान शिव की आराधना चलती रहेगी। इस अवसर पर श्रद्धालु भक्तों को संबोधित करते हुए श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज ने कहा कि भगवान शिव की आराधना से भक्तों का कल्याण होता है। भगवान शिव की उपासना से अर्थ काम मोक्ष की प्राप्ति होती है और व्यक्ति का जीवन सफल हो जाता है। सावन में की गई शिव आराधना व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूर्ण करती है। माता पार्वती ने भगवान शिव को पाने के लिए 108 बार अवतरण लिया। कलयुग में सूक्ष्म आराधना से ही प्रसन्न होकर महादेव भक्तों का कल्याण करते हैं। भगवान शिव ने विषपान कर सृष्टि की रक्षा की और आज भी अपनी शरण में आने वाले प्रत्येक श्रद्धालु भक्त का संरक्षण कर भगवान उसे भवसागर से पार लगाते हैं। महादेव के प्रति आस्था और समर्पण व्यक्ति का जीवन सफल बनाती है और गंगा तट पर महादेव की आराधना का महत्व और बढ़ जाता है। संपूर्ण शिव परिवार के साथ में मां गंगा की असीम कृपा भी श्रद्धालु भक्तों पर बरसती है। उन्होंने कहा कि भगवान भोले शंकर जन जन के आराध्य हैं। रुद्र भगवान शिव का ही प्रचंड रूप हैं, शिव की कृपा से सारी ग्रह बाधाओं और समस्याओं का नाश होता है। शिवलिंग पर मंत्रों के साथ विशेष चीजें अर्पित करना ही रुद्राभिषेक कहा जाता है।