व्यापारियों ने की जीएसटी सर्वे बंद करने की मांग

 


हरिद्वार। तीर्थनगरी के विभिन्न होटलों पर जीएसटी की कार्रवाई का बजट होटल एसोसिएशन और हरिद्वार होटल एसोसिएशन ने संयुक्त रूप से विरोध किया है। जीएसटी की कार्रवाई के विरोध में शीघ्र दोनों एसोसिएशन का प्रतिनिधिमंडल जीएसटी कमिश्नर से मुलाकात कर अपनी शिकायत दर्ज कराएगा। मामले का हल नही निकलने पर होटल कारोबार से जुड़े व्यापारियों ने धरना प्रदर्शन करने और काले झंडे दिखाने की चेतावनी दी है। सोमवार को जीएसटी की टीम ने हरिद्वार के कुछ होटलों पर कार्रवाई की थी। मंगलवार को विभाग की कार्रवाई के विरोध में हरिद्वार की दो होटल एसोसिएशन ने संयुक्त रूप से बैठक की। संयुक्त बैठक में विभागीय कार्रवाई पर व्यापारियों ने रोष जताया। बैठक में पदाधिकारियों का कहना था कि बिना नोटिस दिए विभाग कार्रवाई कर रहा है। इस कार्रवाई का विरोध किया जाएगा। बैठक में निर्णय लिया गया कि कार्रवाई के खिलाफ शीघ्र ही एक प्रतिनिधिमंडल जीएसटी कमिश्नर से मुलाकात कर अपनी नाराजगी उनके समक्ष रखेगा। भविष्य में इस प्रकार से सीधी कार्रवाई ना हो उसका भी निवेदन जीएसटी कमिश्नर से इस दौरान किया जाएगा। वही व्यापारियों ने प्रांतीय उद्योग व्यापार मण्डल की हरिद्वार इकाई के नेतृत्व में जीएसटी सर्वे के नाम पर व्यापारियों का उत्पीड़न किए जाने का आरोप लगाते हुए सिटी मजिस्ट्रेट के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित कर सर्वे बंद कराए जाने की मांग की है। इस दौरान प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मण्डल के जिलाध्यक्ष सुरेश गुलाटी व जिला महामंहत्री संजीव नैय्यर ने कहा कि व्यापारियों हर कदम पर सरकार का साथ देते हैं। लेकिन जीएसटी संग्रह बढ़ाने के नाम पर व्यापारियों का उत्पीड़न किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सर्वे के नाम पर अधिकारी बाजारों में जाकर व्यवसायियों का उत्पीड़न कर रहे हैं। इसका पुरजोर विरोध किया जाएगा। विभाग के पास सभी व्यापारियों का पूरा रिकॉर्ड होता है। इसलिए सर्वे के नाम पर आम व्यापारियों का उत्पीड़न करने के बजाए टैक्स में हेराफेरी करने वाली फर्मो के खिलाफ विभाग को कार्यालय से नोटिस जारी करना चाहिए। ज्ञापन सौंपने वालों में राजन मेहता, विजय शर्मा,मृदुल कौशिक,विक्की शर्मा,अंकित गुप्ता,राजीव पाराशर,अमन शर्मा,माधव बेदी, संदीप शर्मा,दीपांकरण चक्रपाणी,अरूण राघव नवीन सेंस,प्रदीप कालरा,विक्की चौरसिया,राजेश पुरी,शुभम अग्रवाल,महेंद्र अरोड़ा,संजय चौहान,चिरायू भार्गव, विवेक अग्रवाल,राम अरोड़ा,राजन सेठ,भोला शर्मा,वेद अरोड़ा,रवि धींगड़ा,विपिन गुप्ता,विक्की तनेजा,संजय चौहान रोहित अग्रवाल आदि व्यापारी शामिल रहे।