सेवादार को गोली मारकर लूटपाट करने के मामले मे तीन आरोपी गिरफ्रतार

 


हरिद्वार। पिरान कलियर शरीफ दरगाह के सेवादार उताऊर्र रहमान को गोली मारकर लूटपाट करने के मामले में रानीपुर कोतवाली पुलिस और सीआईयू ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के कब्जे से लूटी गई मोटरसाइिकल और वारदात में प्रयुक्त तमंचा भी बरामद किया गया है। डीआईजी-एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने पुलिस टीम की पीठ थपथपाई है। गुरुवार को कोतवाली रानीपुर कैंपस में नगर पुलिस अधीक्षक स्वतंत्र कुमार सिंह ने बताया कि 20 अगस्त देर रात गांव सलेमपुर निवासी अताऊर्र रहमान से सुमनगर नगर क्षेत्र में बंधा नंबर तीन के पास रोककर असलहे के दम पर मोटरसाइकिल लूट ली गई थी। मोटरसाइकिल लेकर जा रहे बदमाशों ने मोबाइल फोन पर बात कर रहे सेवादार को गोली मार दी थी, जिसके छर्रे उसके पैर में लगे थे। इधर, मोटरसाइकिल को सिडकुल क्षेत्र में छोड़कर आरोपी फरार होने में कामयाब रहे थे। सीआईयू एवं रानीपुर पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए आरोपी राहुल कश्यप पुत्र किरणपाल निवासी तिलफरा ऐकबाद ननौता जिला सहारनपुर, प्रयास मीणा पुत्र राजेश निवासी ग्राम पालमपुर थाना हिण्डोल जिला करोली राजस्थान और गोल्डी सिंह पुत्र बलवंत सिंह निवासी मोहल्ला अफगान ननौता जिला सहारनपुर यूपी को देसी तमंचे के साथ पकड़ लिया। आरोपियों के कब्जे से लूटी गई मोटरसाइकिल बरामद की गई। पूछताछ में सामने आया कि आरोपियों ने उसी दिन ही चौपहिया वाहन लूटने की भी कोशिश की थी लेकिन असफल रहे थे। सामने आया कि आरोपी राहुल कश्यप की अपने गांव में राजपूत बिरादरी से ताल्लुक रखने वाले लोकेश पहनवान से रंजिश चली आ रही थी, जिसकी हत्या करने की भी उनकी योजना थी इसलिए ही उन्होंने देसी तमंचा खरीदने के साथ साथ वारदात में इस्तेमाल करने के लिए बाइक लूटी थी। एसपी सिटी ने बताया कि आरोपी प्रयास मीणा से उनकी दोस्ती सोशल मीडिया के माध्यम से हुई थी, जिसके चलते वह उनके साथ वारदात को अंजाम देने के लिए राजी हो गया था। आरोपी सिडकुल के महादेवपुरम में आरोपी राहुल की दीदी व जीजा के साथ किराये के कमरे में रह रहे थे। खुलासे के दौरान सीओ सदर बहादुर सिंह चौहान, एसएसआई अनुरोध व्यास, गैस प्लांट चौकी प्रभारी अशोक सिरसवाल, सुमनगर चौकी प्रभारी इंद्र सिंह गड़िया मौजूद रहे।