2025 तक प्रदेश मे लिंगानुपात एक समान करने का लक्ष्य-श्रीमती रेखा आर्य

’’मुझे भी जन्म लेने दो’’’’शिव के माह में शक्ति का संकल्प’’ का कांवड़ उठाकर शुभारम्भ

 


हरिद्वार। प्रदेश की महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास, खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले,खेल एवं युवा कल्याण श्रीमती रेखा आर्या ने हरकीपैड़ी से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंर्तगत वर्ष 2025 तक उत्तराखंड में बाल लिंगानुपात को प्रति 1000 बालकों पर 1000 बालिकाएं करने के महत्वाकांक्षी लक्ष्य के साथ संकल्प कांवड़ यात्रा-’’मुझे भी जन्म लेने दो’’-’’शिव के माह में शक्ति का संकल्प’’ का शुभारम किया तथा संकल्प कांवड यात्रा की स्वयं अगुवाई करते हुये सैकड़ों महिला कावंड़ियों के साथ पवित्र गंगा का जल वीरभद्र महादेव मन्दिर ऋषिकेश में अर्पित करने हेतु प्रस्थान किया। मंगलवार को प्रातःकालीन बेला में हरकीपैड़ी पर मां गंगा की पूजा-अर्चना तथा आरती की। उन्होंने मां गंगा से देश-प्रदेश की सुख-समृद्धि के लिये प्रार्थना करते हुये आशीर्वाद प्राप्त किया। इस मौके पर श्रीमती रेखा आर्य ने कहा कि आज कांवड़ियों की शिव रात्रि है और शिव रात्रि में बाबा भोलेनाथ ने यह सन्देश दिया कि वह शक्ति के बिना अधूरे हैं और शक्ति शिव के बिना अधूरी है। कन्याओं का जिक्र करते हुये उन्होंने कहा कि हमारे प्रदेश अथवा देश में कन्या जन्म लेने का अधिकार रखती है, उन्हें जन्म लेने देना चाहिये और हम सबको कन्या भू्रण हत्या के खिलाफ स्वयं भी संकल्प लेना चाहिये तथा दूसरे को भी ऐसा नहीं करने देना चाहिये। उन्होंने कहा कि आज का संकल्प-’’मुझे भी जन्म लेने दो’’-’’शिव के माह में शक्ति का संकल्प’’,का यह सन्देश उत्तराखण्ड को देवभूमि के अतिरिक्त देवियों की भूमि बनाने की ओर अग्रसर करेगा और लोगों की मानसिकता में भी परिवर्तन लायेगा। उन्होंने कहा कि महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग जन-जागरूकता के माध्यम से इस ओर निरन्तर कार्य कर रहा है। आजादी के अमृत महोत्सव का उल्लेख करते हुये कैबिनेट मंत्री ने कहा कि इस अवसर पर हमने बेटियों को पढ़ाने तथा बचाने का संकल्प लिया है और आने वाले समय में जब उत्तराखण्ड अपनी रजत जयन्ती मना रहा होगा, निश्चित रूप से कहेगा कि जितनी लड़कों की संख्या है, उतनी ही लड़किया की संख्या भी है। इस अवसर पर विधायक आदेश चौहान, पूर्व विधायक देशराज कर्णवाल, सचिव, महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास, हरि चन्द्र सेमवाल, एसडीएम पूरन सिंह राणा,अखाड़ा परिषद व मंसादेवी मन्दिर ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीमहन्त रविन्द्रपुरी जी महाराज, अखाड़ा परिषद महामंत्री श्रीमहंत हरिगिरि जी, जूना अखाड़ा के सचिव श्रीमहन्त महेशपुरी, श्री गंगा सभा के अध्यक्ष प्रदीप झा, आचार्य अमित कौशिक,भोला शास्त्री,उप निदेशक बाल विकास विभाग एस0के0 सिंह एवं विक्रम सिंह, जिला बाल विकास परियोजना अधिकारी सुश्री सुलेखा सहगल,बाल विकास अधिकारी सुश्री गीता सहित सम्बन्धित अधिकारी व पदाधिकारी उपस्थित थे।