संत सम्मेलन के साथ हुआ अजर निर्वाण महोत्सव संपन्न

 


हरिद्वार। सप्त सरोवर क्षेत्र स्थित स्वामी अजरानंद महिला आश्रम ट्रस्ट के तत्वाधान में अजर निर्वाण महोत्सव के अंतर्गत संत सम्मेलन संपन्न हुआ। स्वामी अजरानंद अंध विद्यालय एवं संस्था के परमाध्यक्ष स्वामी स्वयंमानंद महाराज के संयोजन में एवं महामंडलेश्वर स्वामी विवेकानंद महाराज की अध्यक्षता में संतजनों ने ब्रह्मलीन स्वामी अजरानंद महाराज, सच्चिदानंद महाराज,माता शांतानंद एवं माता स्वरूपानंद को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम के परमाध्यक्ष स्वामी रूपेंद्र प्रकाश महाराज ने स्वामी अजरानंद महाराज को नमन करते हुए कहा कि हरिद्वार में नेत्रहीन दिव्यांगों के लिए विद्यालय स्थापना करने का महान कार्य स्वामी अजरानंद महाराज ने किया। जिसके लिए वे सदैव याद किए जाते रहेंगे। महामंडलेश्वर स्वामी प्रेमानंद महाराज,महंत सूरज दास,स्वामी माधवानंद सहित संत जनों ने श्रद्धांजलि सभा में अपने विचार प्रकट किए और संस्था के संचालकों के प्रति मंगलकामनाएं ज्ञापित की। अजर धाम आश्रम के परमाध्यक्ष महंत स्वयंमानंद महाराज ने आए हुए संत महंत जनों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि हमारे गुरु जनों ने जो सेवा के प्रकल्प शुरू किए हैं। वे निरंतर प्रगति के पथ पर अग्रसर रहेंगे और संस्था संत जनों के आशीर्वाद से परमार्थ के कार्य में सदैव संल्गन रहेगी। समारोह की अध्यक्षता करते हुए भगवत धाम के अध्यक्ष महामंडलेश्वर स्वामी विवेकानंद महाराज ने कहा कि स्वामी अजरानंद महाराज ने सर्वप्रथम हरिद्वार में अंध विद्यालय की स्थापना कर समाज सेवा का जो कार्य किया। आज यह विद्यालय समस्त उत्तराखंड में नेत्रहीन दिव्यांगो के लिए सेवा कार्य कर रहा है वह स्तुत्य है। इस अवसर पर स्वामी बिचित्रानंद,ज्ञानानंद शास्त्री,महंत जमना दास,पार्षद अनिल मिश्रा, शिवदास दुबे,विनोद शर्मा,विदेश गुप्ता,रमेश कुमार, मुंशी राम आदि उपस्थित रहे।