प्रधानाचार्य एसोसियेशन ने लगाया खंड शिक्षाधिकारियो पर अभद्र,अमर्यादित व्यवहार का आरोप

 हरिद्वार। राजकीय प्रधानाचार्य एसोसिएशन ने खंड शिक्षाधिकारियों पर अभद्र और अमर्यादित व्यवहार करने का आरोप लगाया है। आरोप लगाया है कि निरीक्षण के दौरान उनका व्यवहार गलत रहता है। जिसे किसी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। गुरुवार को राजकीय प्रधानाचार्य एसोसिएशन का प्रतिनिधि मंडल मुख्य शिक्षा अधिकारी के.के.गुप्ता से मिला। प्रधानाचार्य एसोसिएशन ने खंड शिक्षा अधिकारियों के खिलाफ नाराजगी जताई है। एसोसिएशन की जिलाध्यक्ष पूनम राणा ने कहा कि खंड शिक्षा अधिकारी प्रधानाचार्य के साथ अमर्यादित भाषा का प्रयोग करते हैं। शिक्षा अधिकारियों की ओर से टेबलेट के डीबीटी को लेकर प्रधानाचार्य का वेतन रोके जाने के आदेश दिए गए हैं। जो सरासर गलत है। जिले को टेबलेट के लिए कितना पैसा का मिला, किस विद्यालय को कितना पैसा गया और क्या प्रगति रही इसकी कोई सूचना प्रधानाचार्य को नहीं दी गई। महामंत्री भानु प्रताप सिंह ने कहा कि पिछले कई दिनों से शिक्षा विभाग द्वारा प्रधानाचार्यों को लेकर उटपटांग आदेश निकाले जा रहे हैं। खंड शिक्षाधिकारी भगवानपुर की ओर से बैठक में प्रधानाचार्य के साथ अभद्र एवं अमर्यादित व्यवहार किया गया, जो अत्यंत निंदनीय और खेदजनक भी है। प्रतिनिधि मंडल में महेंद्र सिंह,सुधीर कंडवाल,तरुण शर्मा,अजय बहादुर सिंह,रामेन्द्र यादव आदि मौजूद रहे।