राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का 21दिवसीय शिक्षा वर्ग प्रारम्भ

 


हरिद्वार। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का संघ शिक्षा वर्ग द्वितीय वर्ष भेल स्थित सरस्वती विद्या मंदिर सेक्टर-2 में हुआ। 21 दिवसीय संघ शिक्षा वर्ग में पशिचम उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड क्षेत्र के 500 शिक्षार्थी भाग ले रहे है। उदघाटन सत्र में स्वयंसेवकों को शुभकामनाएं देते हुए क्षेत्र प्रचारक महेंद्र ने कहा कि राष्ट्र, धर्म, समाज के लिए अपने को तैयार करना है। इसके लिए सभी अपने व्यस्तम समय मे से 21 दिन स्वयं के निर्माण में दे रहे है। स्वयं को मेहनत की भट्टी में तपा कर राष्ट्र को समर्पित करने की भावना प्रत्येक स्वयंसेवक में होती है। समयबद्ध व नियमबद्ध तरीके से अपनी दिनचर्या को व्यवस्थित कर अपनी सांसरिक जिम्मेदारियों के साथ राष्ट्र व समाज के निर्माण में भागीदारी सुनिश्चित होनी चाहिए। भाग दौड़ की जिंदगी में अपनी व्यस्ताओं में से भौतिक जिम्मेदारियों में रहते हुए समाज के लिए किस प्रकार समय निकल कर कार्य किया जा सकता है, यह सब सीखने समझने को मिलेगा। वर्ग पालक व क्षेत्र प्रचार प्रमुख पदम ने वर्ग में उपस्थित अधिकारियों व व्यवस्था में लगे कार्यकर्ताओ का परिचय कराते हुए बताया कि कोरोनाकाल के 2 वर्ष बाद इस वर्ष संघ शिक्षा वर्ग आयोजित हुए है। कार्यकर्ता 2 वर्षो से वर्ग का इंतजार कर रहे थे। कार्यकर्ताओं में बेहद उत्साह है। उन्होंने बताया कि हरिद्वार में यह वर्ग चार वर्ष के अंतराल पर हो रहा है। इससे पूर्व 2018 में द्वितीय वर्ष हरिद्वार में आयोजित हुआ था। उन्होंने बताया कि शिक्षा वर्ग द्वितीय में आने से पूर्व प्रतिभागी कार्यकर्ताओ का शरीरिक व बौद्धिक स्तर पर साक्षात्कार होता है। इसमें उत्तीर्ण होने पर ही वह प्रशिक्षिण के लिए यहां आए है। उन्होंने बताया कि द्वितीय वर्ष करने वाले सभी शिक्षार्थी प्राथमिक व प्रथम वर्ष प्रशिक्षित होते है। 22 दिन तक सभी कार्यकर्ता अपना पूरा समय वर्ग में ही देंगे। 12 जून को दीक्षित के साथ संघ के सर कार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले जी का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। इससे पूर्व क्षेत्र सञ्चालक सूर्यप्रकाश टाँक व क्षेत्र प्रचारक महेंद्र ने वर्ग में बने विशेष धर्मिक ग्रन्थालय का लोकार्पण किया। इस मौके पर क्षेत्र सञ्चालक सूर्यप्रकाश टाँक, वर्गाधिकारी व उत्त्तराखण्ड प्रान्त कार्यवाह दिनेश सेमवाल,वर्ग कार्यवाह व मेरठ प्रान्त सम्पर्क प्रमुख विजय कुमार,वर्ग सर्वव्यवस्था प्रमुख अनिल गुप्ता, सह व्यवस्था प्रमुख अंकित कुमार आदि मुख्य थे।