अपराध पर लगाम लगाने के साथ ही यातायात व्यवस्था को रखे दुरूस्त-डीआईजी

 


हरिद्वार। डीआईजी-एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने जनपद में अपराध रोकने के साथ ही यातायात व्यवस्था को पूरी तरह दुरुस्त रखने के निर्देश अधीनस्थों को दिए। उन्होने कनखल, मंगलौर, बहादराबाद, भगवानपुर और एसआईएस की विवेचनाओं में धीमी गति पर नाराजगी जताई। मंगलवार को रोशनाबाद में जिला पुलिस लाइन में मासिक अपराध समीक्षा बैठक में डीआईजी सह एसएसपी डाॅ0 योगेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि कोरोना संक्रमण को लेकर लगाए गए प्रतिबंध के हटने के बाद इस बार चारधाम यात्रा में अधिक संख्या में श्रद्धालु पहुंचेंगे। इसलिए यातायात व्यवस्था में किसी तरह की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। विशेषकर यातायात व्यवस्थाओं को दुरुस्त करते हुए यात्रा के दौरान दुर्घटना संभावित क्षेत्र में चैकसी बरती जाए। डीआईजी ने कहा कि चालान बुक की जगह चालान मशीन से यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई होनी चाहिए। कोतवाली प्रभारी, थानाध्यक्षों को निर्देशित करते हुए कहा कि राजस्व और संबंधित अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर राष्ट्रीय राजमार्ग एवं संपर्क मार्गों से अतिक्रमण स्थलों को समय से चिह्नित करते हुए कार्रवाई की जाए। जिससे जाम की स्थिति पैदा न हो। उन्होंने सीएफओ, एफएसओ को फायर सीजन और चारधाम यात्रा देखते हुए अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश दिए। समय से विवेचना और लम्बित प्रार्थना पत्रों का निस्तारण करने के निर्देश दिए। बैठक में एसपी सिटी,एसपी देहात के अलावा सभी पुलिस क्षेत्राधिकारियों के साथ साथ कोतवाली प्रभारी व थानाध्यक्ष मौजूद रहे।