वन विभाग की टीम ने कराया तारों में उलझे बंदर को आजाद

 हरिद्वार। घर के बाहर कपड़े सुखाने के लिए बांधी गयी तार में उलझे बंदर को वन विभाग की क्विक रिस्पोंस टीम ने कड़ी मशक्त के बाद तार काटकर आजाद कराया। बुधवार सवेरे मौनी मंदिर आश्रम खडखडी निवासी शिवप्रकाश शिव के घर के आसपास उछलकूद कर मचा रहे बंदरों के झुण्ड में से एक बंदर घर के बाहर कपड़े सुखाने के लिए बांधी गयी तारों में एक बंदर बुरी उलझ गया। तारों में उलझे बंदर ने निकलने की कोशिश भी कि लेकिन निकलने के बजाए वह और अधिक उलझ गया। साथी बंदर को तार में फंसा देख झुण्ड में शामिल अन्य बंदर शोर मचाने लगे। भारी संख्या में इकठ्ठा हुए बंदरों को शोर मचाता देख आसपास के लोग सहम गए। शिवप्रकाश के सूचना देने पर वन विभाग की क्विक रिस्पांस टीम मौके पर पहुंची। टीम में शामिल तालिब, सतन नेगी व वन आरक्षी अश्वनी और दिगंबर सिंह ने कड़ी मशक्कत के बाद तारों में उलझे बंदर को आजाद कराया। तारों में उलझे बंदर के आजाद होने तक अन्य बंदर मौके पर ही डटे रहे। जिसके चलते आसपास रहने वाले लोग घंटों तक घरों में कैद रहे।