लाखों रुपये के इनवर्टर लेकर फरार ट्रक चालक को पुलिस ने किया गिरफ्रतार

 हरिद्वार। थाना सिडकुल क्षेत्रान्गर्त स्थित एक कंपनी से लाखों रुपये के इनवर्टर लेकर फरार हुआ ट्रक चालक पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। सिडकुल पुलिस ने मुखबिर की सूचना के आधार पर बीती रात ट्रक से साढ़े छह सौ पेटियां इनवर्टर और ट्रक को मंगलौर से बरामद कर लिया। पुलिस के अनुसार ट्रक में कंपनी के करीब तीस लाख रुपये के इनवर्टर मौजूद हैं। आरोप है कि ट्रक चालक ने इनवर्टर के पांच कार्टन बेच डाले। ट्रांसपोर्ट के मालिक महेंद्र सिंह निवासी दक्ष एनक्लेव रावली महदूद की शिकायत पर ट्रक चालक के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस के अनुसार ट्रांसपोर्ट मालिक का आरोप है कि 14 मार्च की दोपहर सिडकुल से करीब आठ किलोमीटर दूर दादुपुर गोविंदपुर में कंपनी के गोदाम में डिलीवरी दी जानी थी। लेकिन ट्रक चालक ट्रक लेकर फरार हो गया। आधे घंटे की दूरी में दो घंटे बाद ट्रक नहीं पहुंचने पर ट्रांसपोर्टर ने गाड़ी की तलाश शुरू कर दी। ट्रक चालक ने फोन बंद कर दिया। 15 मार्च को मामला सिडकुल पुलिस में जाने पर केस दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी। पुलिस ने ट्रक चालक मोनू का मोबाइल फोन मंगलौर में ट्रेस किया। पुलिस ने लक्सर-मंगलौर मार्ग पर घेराबंदी कर ट्रक चालक को पकड़ लिया। बुधवार को मेडिकल जांच के बाद आरोपी को कोर्ट से जेल भेज दिया। थाना प्रभारी निरीक्षक प्रमोद कुमार उनियाल ने बताया कि मोनू पुत्र महेंद्र निवासी अलावलपुर थाना पथरी को जेल भेज दिया है। सोशल मीडिया पर झूठी पोस्ट डालने के मामले में कांग्रेस विधायक अनुपमा रावत ने नाराजगी जताई है। उन्होंने फेरुपुर चैकी इंचार्ज को ज्ञापन देकर पोस्ट डालने वाले व्यक्ति के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। बुधवार को विधायक अनुपमा रावत ने कार्यालय में पत्रकार वार्ता की। उन्होंने बताया कि कुछ शरारती व राजनीतिक तत्व उनके खिलाफ षडयंत्र रच रहे हैं। एक पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल की जा रही है। जिसमें एक विशेष वर्ग का उल्लेख कर भड़काने का काम किया गया है। पोस्ट का संज्ञान लेने के बाद विधायक व उसके समर्थकों में जबरदस्त आक्रोश पनप रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसे व्यक्तियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई होनी चाहिये। ताकि क्षेत्र का माहौल खराब न हो सके। चैकी प्रभारी चरण सिंह चैहान ने बताया कांग्रेस कार्यकर्ताओं की ओर से शिकायती पत्र मिला है। मामले की जांच शुरू कर दी है।