जिलाधिकारी ने दिए सड़कों पर फैली पाॅलीथीन साफ करने के निर्देश

 


हरिद्वार। जिलाधिकारी ने सड़कों पर फैली पाॅलीथीन साफ करने के निर्देश दिए हैं। बुधवार को कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक के दौरान अधिकारियों को निर्देश देते हुए जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय ने कहा कि प्लास्टिक का प्रयोग स्वास्थ्य के लिये तो हानिकारक है ही, इसके अलावा जगह-जगह बिखरा हुआ प्लास्टिक वातावरण तथा उस स्थान की छवि पर भी बुरा प्रभाव डालता है। नेशनल हाईवे, लोक निर्माण विभाग, नगर निगमों, स्थानीय निकाय के अधिकारियों को निर्देश देते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि 15 दिन का एक विशेष अभियान प्रतिदिन का लक्ष्य निर्धारित करते हुये पॉलिथिन के एकत्रीकरण के लिये चलायें। उन्होंने नेशनल हाईवे के अधिकारियों से कहा कि टीम गठित कर सभी हाईवे पर सड़क के दोनों तरफ फैली प्लास्टिक या प्लास्टिक से बनी वस्तुओं को एकत्र करवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सड़क के दोनों ओर कोई भी प्लास्टिक का कूड़ा दिखाई नहीं देना चाहिये। प्लास्टिक एकत्रीकरण अभियान के तहत बार्डर पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने कहा कि शहर के सभी प्रवेश मार्ग हैं साफ-सुथरे दिखने चाहिये। जिलाधिकारी ने लोक निर्माण के अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि लोक निर्माण विभाग के अंतर्गत आने वाली सभी सड़कों पर भी प्लास्टिक एकत्रीकरण के लिए विशेष अभियान चलाया जाये। उन्होंने नगर निगम हरिद्वार, नगर निगम रूड़की तथा स्थानीय निकायों के अधिकारियों को भी अपने-अपने क्षेत्रों में अभियान चलाने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने कहा कि हरिद्वार का अपना एक विशेष महत्व है, जहां पर विभिन्न क्षेत्रों से लोगों का आवागमन लगा रहता है। इसलिये शहर को साफ-सुथरा रखना सभी की जिम्मेदारी है। हरिद्वार को साफ-सुथरा बनाने तथा प्लास्टिक मुक्त करने के लिये आमजन का भी सहयोग लिया जाये तथा घर-घर जागरूकता पहुंचाने के लिये शिक्षण संस्थाओं, स्वयंसेवी संस्थाओं, मानव श्रृंखला आदि का सहयोग लेने के साथ ही डिजिटल माध्यमों-ऑडियो, वीडियो आदि का भी पूरा उपयोग जन-जागरूकता फैेलाने के लिये किया जाये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा.सौरभ गहरवार, अपर जिलाधिकारी प्रशासन पी.एल.शाह, एम.एन.ए. हरिद्वार दयानन्द सरस्वती, ए.एम.एन.ए. रूड़की विजय नाथ शुक्ल, महाप्रबन्धक उद्योग सुश्री पल्लवी गुप्ता, अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण विभाग सुरेश तोमर, डीपीआरओ अतुल प्रताप सिंह सहित पुलिस प्रशासन तथा जिला प्रशासन के सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।