गढ़वाल महासभा के प्रतिनिधिमण्डल ने डीआईजी से भेंटकर कारवाई की मांग की


 हरिद्वार। गढ़वाल महासभा की कोर कमेटी की एक बैठक ज्वालापुर हरिद्वार में आयोजित की गयी, जिसमें भगवती पुरम कालोनी, जियापोता गांव में, पर्वतीय मूल के निवासियों के साथ मारपीट होली वाले दिन कुछ अराजक तत्व किस्म के युवकों द्वारा की गयी थी आज इसी प्रकरण पर विचार विमर्श किया गया, संज्ञान में आया कि पर्वतीय महिलाओं, बच्चे, बच्चियों और पुरुषों के साथ जमकर हंगामा करते हुए मारपीट की गयी, छेड़छाड़ भी की गयी, घरों में तोड़फोड़ भी की गयी, घरों के शीशे इत्यादि तोड़ दिये गये, और जमकर उत्पात मचाया गया और उन्हें वहां से चले जाने की धमकी भी दी गई और किसी एक महिला की सोने की चेन भी खो गयी, इस घटना से हरिद्वार जनपद और उत्तराखंड में पर्वतीय मूल के लोगों में काफी रोष व्याप्त है, हरिद्वार गढ़वाल महासभा ने इस दुःखद घटना की घोर निंदा की गयी और सभा मेें जिला पुलिस प्रशासन से मिलने का विचार बनाया गया और दोषियों को शीघ्र ही गिरफ्तार कर सजा देने की मांग की गयी,अन्यथा गढ़वाल महासभा के लोग धरना-प्रदर्शन आन्दोलन करने के लिए बाध्य होगें, जिसकी पूरी जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की होगी. इसी घटना को लेकर आज गढ़वाल महासभा के सदस्यों के द्वारा हरिद्वार जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डी आई जी से सम्पर्क कर बैठक में पूरे घटनाक्रम से अवगत कराया गया और एक ज्ञापन भी दिया गया और शीघ्र ही कार्यवाही की मांग की गयी, ज्ञापन देने वालों में मुख्य रूप से महंत अनिल गिरी,मुकेश जोशी,रीता चमोली, मंजू मनु रावत, प्रमोद कुमार डोभाल, पुरुषोत्तम गोदियाल, प्रतिमा बहुगुणा, विमला ढोंढियाल, मुकेश कोठियाल, रमेश रतूड़ी आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे.