माहौल खराब करने के जिम्मेदार लोगों की गिरफ्रतारी की मांग को लेकर प्रदर्शन

 हरिद्वार। आजाद समाज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष महक सिंह ने कहा कि हरिद्वार में हुई धर्म संसद में वक्ताओं ने हिंदू राष्ट्र की स्थापना के लिए धार्मिक विशेष के सामूहिक नरसंहार की बात कहना निंदनीय है। यह देश में माहौल खराब करने की साजिश रची गई है। मंगलवार को महक सिंह सैकड़ो कार्यकर्ताओं के साथ जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे। एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर वसीम रिजवी उर्फ जितेंद नारायण त्यागी की गिरफ्तारी को लेकर ज्ञापन दिया गया। उन्होंने कहा कि जिसका वीडियों वायरल हो रहा है। मुकदमा दर्ज होने के बाद भी अभी तक उनकी गिरफ्तारी नहीं हुई है। इससे साफ है कि प्रशासन आरोपियों की गिरफ्तारी से बच रहा है। प्रशासन आरोपियों के दबाव में है। और कानून का पालन करने से पीछे हट रहा है। जबकि धर्म संसद के आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रशासन के पास ठोस सबूत भी है। उन्होंने कहा कि भारत देश संविधान से चलता है। संविधान में हर धर्म को बराबर की मान्यता दी है। जिस प्रकार से धर्म संसद के आरोपियों द्वारा समुदाय विशेष के नरसंहार की बात कही गई है। वह संविधान के खिलाफ है। यह मुल्क की शांति व भाईचारे के लिए यह खतरा है। भीम आर्मी एकता मिशन के प्रदेश अध्यक्ष धर्म संसद की इस घटना में जो लोग शामिल थे उन्हें तत्काल प्रभाव से गिरफ्तार किया जाए। आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं। जो देश में समाज के लिए खतरा बने हुए हैं। उन्होंने प्रदेश में ऐसे लोगों पर प्रतिबंध की मांग की है। कहा धर्म संसद के आरोपी की गिरफ्तारी तुरंत हो अन्यथा आजाद समाज पार्टी भी देशव्यापी आंदोलन करेंगे। रवि तेगवाल, प्रमोद महाजन, सुशील पाटिल, विनोद मेघवाल, धर्मेश मोरिया, विशाल प्रधान, रोबिन कुमार, सागर बेनीवाल, दीपक राठौर, शिवकुमार, सुनील मोगा, आकाश, चंचल, राहुल, चंचल, मुन्नीलाल, अमरीश, कपिल, मदन सिंह, राजेंद्र लांबा, सनोज, रजनीश, रोहित नौटियाल, बिल्लू, मिथुन नौटियाल, मोहसिन, राशिद अली, आरिफ अब्बासी, आवेश कुरैशी, अनस कुरैशी, राशिद अली, फरमान तुर्क, राशिद, नदीम अली, अजमत अल्वी, नाजिस, समीर अंसारी, अर्श, राजा अली, बाबू गुज्जर, सरफराज गुज्जर, सलीम ख्वाजा, शमीम सिद्दीकी, आकिब तुर्क आदि शामिल रहे।