भूखंड के नाम पर अधिक रकम हड़पने का आरोप,धोखाधड़ी में मुकदमा दर्ज

 हरिद्वार। एडीजीसी (क्राइम) के पद पर तैनात अधिवक्ता से भूखंड के नाम पर अधिक रकम हड़पने का आरोप लगाया है। तहरीर पर सिडकुल पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर लिया है। अधिवक्ता आदेश चंद्र चैहान निवासी गुघाल रोड ज्वालापुर ने बताया कि सिडकुल क्षेत्र में भूखंड लेने के लिए अंतरिक्ष एनआरआई के डेवलपर्स मैसर्स प्लेनेट इन्फ्रा प्रमोटर्स प्राईवेट लिमिटेड के अधिकारी सत्यव्रत शर्मा एवं पंकज डंगवाल से वर्ष 2018 में संपर्क साधा था। 15 जुलाई 2018 को एक लाख चालीस हजार रुपए का चेक देकर भूखंड बुक करा लिया था। भूखंड का कुल सौदा तीस लाख, पिचासी हजार छह रुपए में तय हुआ था। आरोप है कि 32 लाख रुपए का भुगतान उन्होंने सत्यव्रत शर्मा एवं पंकज डंगवाल, सत्यम चैहान, भूपेंद्र गहलोत को कर दिया था। कई बार कहने के बाद इकरारनामा बनाया जा सका। आरोप है कि आठ जुलाई 2021 को उन्हें एलाटमेंट लेटर मार्केटिंग हेड भूपेंद्र गहलोत ने साफ्ट कापी में उपलब्ध कराने के बाद अगस्त 2021 में मूल एलाटमेंट लेटर उपलब्ध कराया। अब अंतरिक्ष एनआरआई के अधिकारी तय समय सीमा में रकम का भुगतान न होने की बात कहते हुए एलाटमेंट निरस्त करने की धमकी दे रहे हैं, जबकि वह कुल रकम से पांच लाख रुपए अधिक दे चुका है। प्रभारी निरीक्षक प्रमोद उनियाल ने बताया कि मामले में संबंधित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।