भड़काऊ भाषण देने के मामले की एसआईटी ने शुरू की जांच

 हरिद्वार। हरिद्वार में हुई धर्म संसद में भड़काऊ भाषण देने के मामले की जांच एसआईटी ने संभाल ली है। भड़काऊ भाषण देने के शहर कोतवाली में दो अलग-अलग मामले दर्ज हैं। पिछले माह उत्तरी हरिद्वार क्षेत्र के वेद निकेतन में हुई धर्म संसद में भड़काऊ भाषण देने के वीडियो वायरल हुए थे। इस संबंध में जितेंद्र नारायण त्यागी (पूर्व नाम वसीम रिजवी) समेत अन्य संतों के खिलाफ दो अलग अलग मुदकमे दर्ज कराए गए थे। खड़खड़ी चैकी प्रभारी विवेचनाधिकारी विजेंद्र कुमांई ने जितेंद्र नारायण त्यागी एवं साध्वी अन्नपूर्णा को नोटिस भी तामील करा दिया गया था। डीजीपी अशोक कुमार के निर्देश पर डीआईजी गढ़वाल रेंज करण सिंह नग्नयाल ने एसआईटी गठित की थी। एसपी देहात देहरादून कमलेश उपाध्याय को एसआईटी की कमान सौंपी गई थी। उनकी अगुवाई में एएसपी ज्वालापुर रेखा यादव, निरीक्षक मनीष उपाध्याय, एसआई मनोज नौटियाल, मनोज ममगई को एसआईटी में शामिल किया गया था। एसआईटी के विवेचनाधिकारी मनीष उपाध्याय ने बताया कि मामले की जांच एसआईटी ने शुरू कर दी है, अभी पूर्व में की गई कार्रवाई को लेकर दस्तावेजों को खंगाला जा रहा है, उसके बाद ही अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।