शहर में नही लगेंगे कूड़े के अंबार,ठोस अपशिष्ट प्रबंध संयंत्र चालू

 मेयर के साथ जिलाधिकारी ने किया संयत्र का शुभारम्भ


हरिद्वार। अब शहर के अंदर कूड़े के अंबार नहीं लगेंगे। इसके लिए नगर निगम के ट्रंचिंग ग्राउंड में ठोस अपशिष्ट प्रबंध संयंत्र को चालू कर दिया गया है। संयंत्र के शुरू होने से ट्रंचिंग ग्राउंड में लगे लगे कूड़े के पहाड़ छह माह के भीतर कम हो जाएंगे। निस्तारण का कार्य आयुषी हाइजिन एवं केयर प्रा. लिमिटेड को पांच साल के लिए दिया गया है। सोमवार को हरिद्वार नगर निगम की मेयर श्रीमती अनीता शर्मा एवं जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय ने सोमवार को कूडे का वैज्ञानिक विधि से निस्तारण किये जाने हेतु सराय स्थित कूड़ा प्लाण्ट के संचालन का फीता काटकर तथा श्रीफल तोड़कर शुभारम्भ किया किया गया। मेयर अनिता शर्मा ने कहा कि संयंत्र के चालू होने के बाद अब कूड़े का निस्तारण वैज्ञानिक तरीके से होगा। इससे शहर में जगह-जगह लगने वाले कूड़े के ढेर कम हो जाएंगे। एक घंटे में 80 मीट्रिक टन कूड़े का निस्तारण किया जा सकेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि कूड़े को तीन भाग में वर्गीकृत किया जाएगा। एक भाग आरडीएफ, दूसरा इनर्ट और तीसरा कंपोस्ट के रूप में बाहर आएगा। इससे आसपास का वातावरण स्वच्छ होने के साथ ही शहर साफ सुथरा बना रहेगा। हरिद्वार पूरे विश्व के मानचित्र पर एक प्रमुख तीर्थ स्थल के रूप में प्रसिद्ध है, लेकिन उससे महत्वपूर्ण यह है कि जब उस मानचित्र पर अंकित शहर की चाहत में लोग आते हैं, तो उन्हें शहर कैसा दिखता है, अगर वहां गन्दगी आदि दिखती है, तो इससे शहर की छवि खराब जाती है। श्री पाण्डेय ने कूडे का वैज्ञानिक विधि से निस्तारण किये जाने हेतु सराय स्थित कूड़ा प्लाण्ट के संचालन के सम्बन्ध में कहा कि निश्चित रूप से इस प्रोसेसिंग प्लाण्ट के चलने के बाद इतना बड़ा वेस्ट का जो पहाड़ दिख रहा है, वह धीरे-धीरे कम होगा और जो डोर-टू-डोर कलक्शन के माध्यम से कूड़ा आयेगा, उसका निर्धारित ढंग से निस्तारण होगा। जिलाधिकारी ने कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि हरिद्वार इस वर्ष की स्वच्छता रैंकिंग में निश्चित रूप से काफी अच्छी प्रगति करेगा। मुख्य नगर अधिकारी दयानन्द सरस्वती ने बताया कि नगर निगम के साठ वार्डों में से एक-एक कर्मचारी को पर्यावरण मित्र के रूप में चुना गया है तथा यह प्रक्रिया निरन्तर चलती रहेगी। इस मौके पर जिलाधिकारी ने संजीव, सुश्री काजल, राजू सत्यपाल आदि को ’’पर्यावरण मित्र सम्मान’’ से सम्मानित किया। प्रोसेसिंग प्लाण्ट परिसर पहुंचने पर जिलाधिकारी को पुष्पगुच्छ भेंट किया गया। इस दौरान नगर निगम के सफाई कर्मचारियों को मेयर, डीएम और नगर आयुक्त ने सम्मानित किया। कार्यक्रम में वरिष्ठ लिपिक राजेंद्र घाघट, सहायक नगर आयुक्त तनवीर सिंह मारवाह, महेंद्र यादव, टीआई लक्ष्मीकांत भट्ट, सफाई निरीक्षक श्रीकांत, संजय शर्मा, सुनित कुमार, मनोज, विकास छाछर, आयुष हाइजिन एंड केयर प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक टीटू चैहान, विष्णु चैधरी, जोबा पुजारी, बृजेश चैबे, पार्षद अनुज सिंह, रियाज अंसारी, शाहबुद्दीन अंसारी, जफर अब्बासी, तहसीन अंसारी, देवेश गौतम आदि शामिल रहे।