बीटीएसएस का प्रयास सराहनीयः महंत रवीन्द्र पुरी’

 


हरिद्वार। भारत तिब्बत समन्वय संघ के पदाधिकारियों ने अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष स्वामी रवीन्द्र पुरी जी महाराज से मुलाकात कर संगठन की गतिविधियों से परिचित कराया। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत रवीन्द्र पुरी ने कहा कि भारत तिब्बत समन्वय संघ चीन के चंगुल से कैलाश मानसरोवर की मुक्ति तथा तिब्बत की आजादी के लिए भगीरथ प्रयास कर रहा है,अवश्य ही इस कार्य में अभूतपूर्व सफलता प्राप्त होगी। उन्होंने कहा कि कैलाश मानसरोवर की यात्रा आम व्यक्ति नहीं कर पा रहा है, भगवान शिव के दर्शन आम श्रद्धालु कर पाएं इसके लिए राम मंदिर की तर्ज पर आंदोलन की जरूरत है,इस कार्य को भारत तिब्बत समन्वय संघ आगे बढ़कर कर रहा है। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय महत्व के  इस अभियान के लिए वह तन मन ,धन से सहयोग करने के लिए तत्पर हैं। प्रदेश महामंत्री मनोज गहतोड़ी के आह्वान पर संगठन के प्रतिनिधि मंडल ने मुलाकात कर आगामी दिसम्बर माह में हरिद्वार के गंगास्वरूप जयराम आश्रम में आयोजित हो रही पहली राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक हेतु स्वामी रविन्द्रपुरी जी को कार्यक्रम में आशीर्वाद देने हेतु आमंत्रित किया। प्रदेश उपाध्यक्ष कर्नल आमेश मनहास ने भारतीय सीमाओं पर चीन की गतिविधियों पर स्वामी रविन्द्रपुरी से लंबी बातचीत की। इससे पूर्व वैदिक विद्वान एवं बीटीएसएस के शोध विभाग के प्रांत प्रमुख डॉ अरुण कुमार मिश्र ने वैदिक मंगलाचरण से अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष का स्वागत किया। बीटीएसएस के राष्ट्रीय आईटी प्रभारी प्रोफेसर शिवशंकर जायसवाल ने शॉल ओढ़ाकर महंत रवीन्द्र पुरी का स्वागत किया। स्वागत करने वालों में बीटीएसएस के देहरादून जिलाध्यक्ष गिरीश सिंह भी शामिल रहे।