विभिन्न तीर्थो का भ्रमण कर वापस आयी जूना अखाड़े की पवित्र छड़ी

 


हरिद्वार। श्रीपंच दशनाम जूना अखाड़ा द्वारा निकाली जा रही पवित्र छड़ी यात्रा उत्तराखण्ड के विभिन्न तीर्थो के भ्रमण के पश्चात हरिद्वार वापस लौट आयी। शुक्रवार को छड़ी जूना अखाड़ा स्थित मायादेवी मंदिर पहुंचेगी। जहां पूरे विधि विधान के साथ छड़ी पूजन किया जाएगा। छड़ी यात्रा के संचालक एवं जूना अखाड़े के अंतराष्ट्रीय सभापति श्रीमहंत प्रेमगिरी महाराज ने बताया कि उत्तराखण्ड के हिमालयी क्षेत्र में स्थित चारो धाम सहित विभिन्न पौराणिक मंदिरों व तीर्थो की 26 दिन की यात्रा के पश्चात पवित्र छड़ी यात्रा में शामिल सभी संत वापस हरिद्वार लौट आए हैं। शुक्रवार को भव्य शोभायात्रा के रूप में छड़ी मायादेवी मंदिर पहुंचेगी। मायादेवी मंदिर में अखाड़े के संत महंत पूर्ण विधि विधान के साथ छड़ी पूजन करेंगे। उन्होंने बताया कि छड़ी यात्रा का उद्देश्य धर्म का प्रचार प्रसार करने के साथ युवा पीढ़ी को सनातन धर्म की सांस्कृतिक व धार्मिक विरासत से अवगत कराना है। साथ ही हिमालय क्षेत्र में उपेक्षित विभिन्न पौराणिक मंदिरों के विकास के प्रति सरकार का ध्यान आकृष्ट करना है। इस दौरान महामंडलेश्वर स्वामी संजय गिरी महाराज, महामंडलेश्वर स्वामी रविगिरी महाराज, छड़ी श्रीमहंत कुश पूरी, श्रीमहंत पुष्कर राजगिरि, श्रीमहंत शिवदत्त गिरी, विशम्भर गिरी, पुजारी विशिष्ट गिरी महाराज, अमृत पूरी महाराज, रविगिरी महाराज, थानापति रणधीर गिरी, राघवेंद्र गिरी, दीपेश्वर गिरी, भीष्म गिरी, अमृत गिरी, राजगिरि आदि संतजन मौजूद रहे।