नहाय खाय के साथ ही सूर्य उपासना का महापर्व छठ महोत्सव शुरू

 हरिद्वार। सुर्य उपासना का महापर्व छठ महोत्सव की धूम धर्मनगरी में शुरू हो गई है। चार दिन तक चलने वाले भगवान सूर्य की उपासना के पर्व छठ का सोमवार को नहाय-खाय के साथ शुभारंभ हो गया। बुधवार को अस्ताचलगामी और गुरुवार को उगते सूर्य को अर्घ्य के साथ छठ महोत्सव का समापन होगा। महिलाओं ने छठ पर्व को लेकर पहले से ही तैयार किए गेहूं को चक्की में पीसकर मंगल गीतों का गान कर भोग तैयार किया। विष्णुलोक कॉलोनी से प्रेम आश्रम घाट तक कलश यात्रा भी निकाली गई। सोमवार को छठ व्रतियों ने पूजा में भगवान भास्कर के लिए महाभोग को तैयार करने के लिए विधि विधान के साथ पूर्ण शुद्धता के साथ सुखाए गए गेहूं को हाथ चक्की से पीसा। साथ ही मंगल गीतों का गान कर भोग सामग्री तैयार करने का शुभारंभ किया। प्रसाद के लिए आटा छठ व्रतियों ने समूह में एकत्रित होकर पूरे उत्साह के साथ तैयार किया। इसी पवित्र सामग्री से छठ पर्व के तीसरे दिन अस्ताचलगामी भगवान सूर्यदेव को अर्घ्य देकर महाप्रसाद की तैयारी की जाएगी। इस दौरान 36 घंटे का निर्जल व्रत चैथे दिन उदीयमान भगवान सूर्य को प्रसाद सहित अर्घ्य के साथ संपन्न हो जाएगा। इस दौरान रंभा मिश्रा, हीरा दुबे, पार्वती पटेल, लीलावती दुबे, अनीता मिश्रा, सरस्वती मिश्रा, रेखा मिश्रा, पूनम दुबे, ऋतु ड्रोलिया, कल्पना पांडेय, परमेश्वरी ड्रोलिया, प्रीति देवी आदि महिलाएं शामिल रहीं।