जिलाधिकारी के पिताजी की अस्थियां वैदिक मंत्रोच्चार के साथ गंगा में प्रवाहित

 


हरिद्वार। जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय के पिताश्री राम प्रकाश पाण्डेय, अवकाश प्राप्त न्यायाधीश, भूतपूर्व सदस्य, उ0प्र0, उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग, चेयरमैन, डीलर्स सलेक्शन बोर्ड(इण्डियन आॅयल), सदस्य केन्द्रीय हिन्दी समिति(प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में) का निधन विगत 12 अक्टूबर को झांसी में हो गया था, वे 98 वर्ष के थे। आज उनकी अस्थियों को झांसी से हरिद्वार लाया गया, जहां पूरी रीति-रिवाज एवं मंत्रोच्चारण के बीच उनकी अस्थियों को रिटायर्ड पूर्व सचिव, भारत सरकार, विजय शंकर पाण्डेय, जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय व परिजनों ने वी0आई0पी0 घाट पर मां गंगा में विसर्जित किया। उल्लेखनीय है कि स्व0 श्री राम प्रकाश पाण्डेय के पांच पुत्र तथा चार पुत्रियां हैं, जिनमें सबसे ज्येष्ठ सुपुत्र हरिशंकर पाण्डेय, रिटायर्ड आईए0एस0, विजय शंकर पाण्डेय, रिटायर्ड, पूर्व सचिव भारत सरकार, अजय शंकर पाण्डेय,आई0ए0एस0, मण्डलायुक्त, झांसीं, संजय शंकर पाण्डेय, एच0जे0एस0, जिला न्यायाधीश, प्रतागढ़,उ0प्र0 तथा सबसे छोटे पुत्र विनय शंकर पाण्डेय, आई0ए0एस0, जिलाधिकारी, हरिद्वार हैं। पुत्रियां-सुश्री ऊषा त्रिपाठी,सुश्री शशि मिश्रा, एच0ओ0डी0,डाॅ0 सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय,सुश्री कनक त्रिपाठी,आई0ए0एस0, सुश्री अन्नो मिश्रा, ओ0एस0डी0 हैं तथा पुत्रवधू सुश्री अपर्णा पाण्डेय, एच0जे0एस0, सहारनपुर हैं। वी0आई0पी0 घाट पर स्व0 श्री राम प्रकाश पाण्डेय को मुख्य विकास अधिकारीडाॅ0 सौरभ गहरवार, अपर जिलाधिकारी(वित्त एवं राजस्व) वीर सिंह बुदियाल, संयुक्त मजिस्ट्रेट अंशुल सिंह, सचिव, एच0आर0डी0ए0 उत्तम सिंह चैहान, सिटी मजिस्ट्रेट अवधेश कुमार सिंह, एस0डी0एम0 पूरण सिंह राणा, सी0ओ0 सिटी अभय सिंह, समाजसेवियों-में बीईंग भगीरथ के शिखर पालिवाल, सिडकुल एसोशिएशन के अध्यक्ष हरेन्द्र गर्ग, मीडिया से जुड़े हुये लोगों, गंगा सभा के प्रतिनिधि आदि ने श्रद्धासुमन अर्पित किये तथा शोक संतप्त परिजनों को इस दारूण दुःख को सहन करने की शक्ति व धैर्य प्रदान करने तथा दिवंगत आत्मा की शान्ति के लिये ईश्वर से प्रार्थना की।