वुशू बहुत ही ऊर्जावान खेल है, जोकि आत्म रक्षा के लिए भी बहुत आवश्यक-आदेश चैहान

 


हरिद्वार। आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत जिला वुशू एसोसिएशन हरिद्वार द्वारा 10वीं उत्तराखण्ड राज्य स्तरीय वुशू चैम्पियनशिप प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। गुरूकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय के दयानन्द स्टेडियम सभागार में आयोजित प्रतियोगिता का शुभारम्भ विधायक आदेश चैहान, गुकाविवि के कुलपति प्रोफेसर रूप किशोर शास्त्री, प्राचार्य डीपीएस रानीपुर अनुपम जग्गा द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया। इस अवसर पर विधायक आदेश चैहान ने प्रतिभागियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि खेल मानव जीवन का अभिन्न अंग है, न सिर्फ शारीरिक रूप से स्वस्थ्य रहने के लिए अपितु व्यक्तित्व विकास में भी खेलों का महत्वपूर्णं योगदान रहता है। उन्होंने कहा कि वुशू एक बहुत ही ऊर्जावान खेल है, जोकि आत्म रक्षा के लिए भी बहुत आवश्यक है। उन्होंने कहा कि जब कोई खिलाड़ी देश के लिए मेडल जीतता है, तब हर भारतीय का सीना गर्व से चैड़ा हो जाता है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर खेलों इंडिया तथा राज्य स्तर पर खेल महाकुम्भ जैसे आयोजनों से देश में खेलों का वातावरण बना है। श्री चैहान ने कहा कि आज हमारा देश खेल शक्ति के रूप में भी अपनी पहचान बना रहा है। उन्होंने कहा कि व्यक्ति को परिस्थितियों का कभी भी मोहताज नहीं होना चाहिए। उन्होंने अंतराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी वन्दना कटारिया का उदाहरण देते हुए कहा कि जिस प्रकार वन्दना ने अपनी मेहनत, लगन एवं खेल के प्रति समर्पण भाव से सफलता की ऊंचाई को छुआ है, उसी प्रकार कोई भी खिलाड़ी अपने अनुशासन, लगन एवं मेहनत से हर लक्ष्य प्राप्त कर सकता है। उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता करते हुए गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर रूप किशोर शास्त्री ने खिलाड़ियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि गुरूकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय की भूमि हॉकी के लिए प्रसिद्ध रही है। उन्हांेने कहा कि वुशु राष्ट्रीय अर्न्तराष्ट्रीय स्तर पर बहुत अधिक संभावनाओं वाला खेल है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में खिलाडी वुशू में राष्ट्रीय अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर अपने माता-पिता एवं विश्वविद्यालय का नाम रोशन करेंगे इसका उन्हें पूर्णं विश्वास है। कार्यक्रम में अति विशिष्ट अतिथि गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय के शारीरिक शिक्षा एवं खेल विभाग के डीन प्रोफेसर आर0के0एस0 डागर, जिला क्रीड़ा अधिकारी सुनील डोभाल, वूशू एसोसिएशन ऑफ इंडिया के डायरेक्टर चरणजीव बाजवा, तनवीर बाजवा एवं सीईओ वुशू एसोसिएशन ऑफ इंडिया सुहेल अहमद ने भी खिलाड़ियों को सम्बोधित कर प्रोत्साहित किया। कार्यक्रम की मुख्य संयोजक मार्शल आर्ट खेल वुशू की राष्ट्रीय कोच एवं अंर्तराष्ट्रीय खिलाड़ी, सुश्री आरती सैनी ने बताया कि दो दिवसीय प्रतियोगिता में उत्तराखण्ड के सभी 13 जनपदों से लगभग तीन सौ खिलाड़ी प्रतियोगिता मंे प्रतिभाग कर रहें हैं। चैम्पियनशिप में जो प्रतियोगी विजयी होंगे, वे राष्ट्रीय वुशू चैम्पियनशिप में भाग लेंगे। इस अवसर पर बाल कवि समर्थ आर्य द्वारा खेलों के महत्व को रेखांकित करती ओजस्वी कविता प्रस्तुत की गयी। कार्यक्रम में एसोसिएशन के कोषाध्यक्ष अमित सैनी, कोच दुष्यंत सैनी, सुनील कुमार, अश्वनी कुमार, संजय आर्य, सुश्री इशिता आदि ने अतिथियों का माला पहनाकर एवं स्मृति चिन्ह और अंग वस्त्र भेंट कर स्वागत किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ0 शिवकुमार चैहान ने किया।