कांग्रेस कार्यकर्ताओं का दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर


 हरिद्वार। उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने अपने चुनाव अभियान में तेजी लाते हुए बूथ स्तरीय कार्यकर्ता प्रशिक्षण अभियान की शुरुआत कर दी है। इसी कड़ी में, हरिद्वार में दो दिवसीय प्रशिक्षक प्रशिक्षण कार्यशाला 9 और 10 अक्तूबर को आयोजित की जा रही है। इस कार्यशाला की तैयारियों लेकर शुक्रवार को प्रदेश सहप्रभारी दीपिका पाण्डे ने बैठक ली। बैठक में मीडिया कोऑर्डिनेटर जरिता, प्रशिक्षण विभाग के प्रमुख विजय सारस्वत, प्रशिक्षण विभाग संयोजक इंदु मान शामिल रही। उत्तरी हरिद्वार स्थित राधा कृष्ण आश्रम में दो दिवसीय प्रशिक्षक प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित की जा रही है। कांग्रेस प्रदेश सचिव महेश प्रताप राणा ने बताया कि 9 और 10 अक्टूबर को आयोजित इस प्रशिक्षण कार्यशाला में, पहले दिन गढ़वाल मंडल की प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र से 5 बूथ स्तरीय कार्यकर्ता शामिल होंगे। दूसरे स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में, प्रशिक्षण कार्यशालाएं आयोजित की जाएंगी। पहले स्तरीय प्रशिक्षण से प्रशिक्षित कार्यकर्ता ही विधानसभा स्तरीय प्रशिक्षण कार्यशालाओं में प्रशिक्षक की भूमिका निभाएंगे। इन प्रशिक्षण कार्यशालाओं में, कार्यकर्ताओं के साथ, कांग्रेस पार्टी के मूल सिद्धांतों, राष्ट्रीय आंदोलन और देश के विकास  में कांग्रेस पार्टी की भूमिका से लेकर, वर्तमान समय मे गांधीवादी मूल्यों के महत्व पर चर्चा की जाएगी। वर्तमान राजनीतिक परिस्थितियों में, कांग्रेस पार्टी के मूल सिद्धांत, लोकतंत्र, समाजवाद और धर्मनिरपेक्षता के मूल्यों का महत्व और भी बढ़ गया है। आज पूरी दुनिया एक बार फिर गांधी जी के मूल सिद्धांतों की तरह देख रही है। उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस पार्टी द्वारा आयोजित इन प्रशिक्षण कार्यशालाओं में, चुनावों के मद्देनजर बूथ मैंनेजमेंट से लेकर पार्टी के मूल सिद्धांतों पर विस्तार से चर्चा की जाएगी। प्रशिक्षण शिविर में, अखिल भारतीय प्रशिक्षण समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री सचिन राव के अलावा, राष्ट्रीय और प्रदेश स्तरीय प्रशिक्षक और नेता हिस्सा लेंगे। प्रशिक्षण कार्यशाला की तैयारियों को लेकर अखिल भारतीय कांग्रेस समिति की सचिव और झारखंड की विधायक दीपिका पाण्डे, मीडिया कोऑर्डिनेटर जरिता लैतफलांग, प्रशिक्षण विभाग के प्रमुख विजय सारस्वत, इंदु मान संयोजक, कांग्रेस प्रशिक्षण विभाग ने, आयोजक समिति के साथ एक बैठक आयोजित की तथा इंतजामों को अंतिम रूप दिया। बैठक में मुख्यरूप से राजपाल बिष्ट, प्रेम बहुखंड़ी, महेश प्रताप राणा, रवि बहादुर, संजीव चैधरी, अनिल भास्कर, मनोज महन्त, पुष्कर सारस्वत, शरद शर्मा, मनी राम बागड़ी, तुषार कपिल, अभिमन्यु मान, झारखंड से प्रसाद निधि आदि मौजूद थे।