सड़क दुर्घटनाओं के लम्बित मामलो का विशेष अभियन चलाकर निस्तारण के डीएम ने दिए निर्देश

 


हरिद्वार। जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय ने कहा है कि जितने भी सड़क दुर्घटनाओं के लम्बित मामले हैंे, उसके लिये एक माह का विशेष अभियान चलाकर सभी ऐसे प्रकरणों का निस्तारण किया जाये। मंगलवार को कैम्प कार्यालय में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में जिलाधिकारी सड़क सुरक्षा को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे। इस दौरान अधिकारियों ने जिलाधिकारी को ब्लैक स्पाॅट के सम्बन्ध में जानकारी देते हुये बताया कि नेशनल हाईवे के बन जाने से कई नये ब्लैक स्पाॅट भी सामने आये हैं। शंकराचार्य चैक, मंगलौर में गुड़मण्डी के पास के अलावा अन्य कई ब्लैक स्पाॅट चिह्नित किये गये हैं। जिलाधिकारी ने अधिकारियों से बिना हेल्मेट वाहन चालाने, अप्रशिक्षित चालकों द्वारा वाहन चलाने तथा लाइसेंस की प्रक्रिया के सम्बन्ध में अधिकारियों से जानकारी ली। इस पर अधिकारियों ने बताया कि लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया तीन चरणों में सम्पादित होती है। इसके अन्तर्गत लाइसेंस के लिये आवेदन करने वाले आवेदक को सबसे पहले कम्प्यूटर पर सड़कों के संकेतों के सम्बन्ध में परीक्षा ली जाती है, जिसको पास करने के बाद आगे के चरणों की परीक्षा होती है, तब ही लाइसेंस जारी किया जाता है। श्री पाण्डेय ने किस रोड पर किस गति से गाड़ी चलेगी, यह तय करने के लिये क्या प्रक्रिया है, के सम्बन्ध में भी जानकारी ली। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि मुख्य-मुख्य सड़कों पर गति सीमा निर्धारित करने के लिये तीन दिन के भीतर एक कमेटी गठित की जाये, जो इस प्रकरण पर अपनी रिपोर्ट जल्द प्रस्तुत करेगी। बैठक में मुख्य-मुख्य जगहों पर कैमरे स्थापित करने, कैमरों को स्थापित करने में आने वाले व्यय, चालक, जिनके कारण दुर्घटना हुई, उनका लाइसेंस निरस्त करने के सम्बन्ध में क्या कार्रवाई हुई, सड़क दुर्घटनाओं की मजिस्ट्रेटी जांचों की स्थिति आदि पर भी विस्तृत चर्चा हुई। बैठक में वाहन दुर्घटनाओं से सम्बन्धित लम्बित मामलों का जिक्र करते हुये जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जितने भी सड़क दुर्घटनाओं के लम्बित मामले हैंे, उसके लिये एक माह का विशेष अभियान चलाकर सभी ऐसे प्रकरणों का निस्तारण किया जाये। जिलाधिकारी ने नेशनल हाईवे के अधिकारियों से कहा कि सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के लिये भी आप लम्बी अवधि की योजनाओं के लिये सुझाव प्रस्तुत करें ताकि भविष्य में इसका लाभ जनता को मिल सके। बैठक में नगर आयुक्त, नगर निगम हरिद्वार दयानन्द सरस्वती, एसडीएम हरिद्वार पूरन सिंह राणा, डी0एफ0ओ0 नीरज कुमार, एआरटीओ मनीष तिवारी, एआरटीओ जे0एस0 मिश्रा, सहायक नगर आयुक्त रूड़की, वरिष्ठ मण्डलीय प्रबन्धक न्यू इंडिया एश्योरेंस क0लि0 रवि भूषण कुश, टीईएस,पीआईयू नजीबाबाद आर0बी0 कटियार, टीईएस,पीआईयू नजीबाबाद एम0के0 श्रीवास्तव, जीएम,मैसर्स पवन कुमार (पीआईयू नजीबाबाद) संदीप तिवारी, एसीएमओ डाॅ0 अजय कुमार, डाॅ0 कोमल, ईई एनएच, पीडब्ल्यूडी देहरादून सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।