दहेज उत्पीड़न के मामले में पति समेत चार के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के कोर्ट ने दिए आदेश

 हरिद्वार। दहेज में पांच लाख रुपये और कार नहीं लाने पर महिला के साथ मारपीट, गाली गलौज और जान से मारने की धमकी देने के मामले में प्रथम न्यायिक मजिस्ट्रेट मंजू देवी ने पति समेत चार लोगों पर केस दर्ज कर जांच के आदेश दिए हैं। मामले में अधिवक्ता कुलवंत सिंह चैहान ने बताया कि ग्राम भोगपुर लक्सर, हाल पता कृपाल कॉलोनी शिवालिक नगर निवासी शिकायतकर्ता गजेंद्र कुमार ने अपनी भतीजी सलोनी उर्फ सारिका के पति विजय भारत, ससुर रतन सिंह, सास शर्मिला व ननद स्वाति निवासी तपोवन नगर ज्वालापुर पर दहेज की खातिर उत्पीड़न व मारपीट, गाली गलौज व दहेज में पांच लाख रुपये की मांग पूरी नही होने पर ससुराल से निकालने का आरोप लगाते हुए शिकायत दायर की थी। कोर्ट में दी शिकायत में बताया था कि आठ मार्च 2019 में उसके भाई सुनील ने अपनी पुत्री सलोनी उर्फ सारिका की शादी विजय भारत सिंह से कराई थी। पीड़ित पक्ष ने शादी में 14-15 लाख रुपये खर्च किए थे। लेकिन ससुरालीजन दिए गए दान से खुश नहीं थे। ससुरालीजनों पर शिकायतकर्ता की भतीजी को मायके से पांच लाख रुपये व कार लाने का दबाव बनाने का आरोप है। आरोप लगाया कि सभी ससुरालीजनों ने उसके साथ मारपीट व गाली गलौज कर घर से निकाल दिया है। यही नहीं, दहेज में पांच लाख रुपये व कार नहीं लाने पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप भी लगाया है। स्थानीय पुलिस में कोई कार्यवाही नहीं होने पर कोर्ट की शरण ली थी। मामले की सुनवाई करने के बाद प्रथम न्यायिक मजिस्ट्रेट मंजू देवी ने कोतवाल ज्वालापुर को सभी ससुरालीजन पर केस दर्ज कर विवेचना करने के आदेश दिए हैं।