बीपीएड, एमपीएड बेरोजगार संगठन ने चार सूत्रीय मांग पत्र सौपा

 हरिद्वार। बीपीएड, एमपीएड बेरोजगार संगठन ने बुधवार को कैबिनेट मंत्री यतीश्वरानंद से उनके आश्रम ज्वालापुर में भेंटकर मुख्यमंत्री के नाम चार सूत्रीय मांग पत्र सौंपा। संगठन का कहना है कि पिछले कई वर्षों से उनकी चार सूत्रीय मांगों को नहीं माना जा रहा है। मंत्री ने बेरोजगार संगठन के प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया कि उनका मांग पत्र मुख्यमंत्री को सौंपा जाएगा। उनके मांग पत्र पर जल्द कार्रवाई भी होगी। संगठन के संरक्षक राजबीर सिंह कलानिया ने कहा कि बीपीएड और एमपीएड प्रशिक्षित बेरोजगार हैं। कई वर्षों से नियुक्ति की मांग करते आ रहे हैं। लेकिन सरकार उन्हें अनदेखा कर रही है। शारीरिक शिक्षकों की नियुक्ति को लेकर सरकार को कई ज्ञापन दिए जा चुके हैं। बावजूद इसके कोई कार्रवाई आगे नहीं बढ़ी है। संगठन के जिलाध्यक्ष प्रवीण राजपूत ने कहा कि प्रत्येक प्राथमिक विद्यालय में शारीरिक शिक्षक की नियुक्ति वर्षवार व वरिष्ठता के आधार पर की जाए। प्रत्येक उच्च प्राथमिक विद्यालय में कक्षा छह से कक्षा आठ तक शारीरिक शिक्षक व्यायाम की नियुक्ति अनिवार्य रूप से की जाए। उन्होंने कहा कि शारीरिक शिक्षा विषय को कक्षा एक से कक्षा 12 तक अनिवार्य विषय बनाया जाए। उत्तराखण्ड राज्य के प्रशिक्षित बेरोजगारों को हिमाचल प्रदेश की तर्ज पर आयु सीमा में तीन वर्ष की छूट यानि 42 वर्ष से बढ़ाकर 45 वर्ष की जाए। ज्ञापन देने वालों में उपाध्यक्ष संजय कलूड़ा और विनोद रयाल आदि शामिल थे।