जिला उपभोक्ता आयोग ने बिजली विभाग को नया बिल भेजने के आदेश किए पारित

 हरिद्वार। जिला उपभोक्ता आयोग ने अधिशासी अभियंता उत्तराखंड पॉवर कारपोरेशन लिमिटेड ग्रामीण बहादराबाद को उपभोक्ता सेवा में कमी का दोषी पाया है। आयोग ने भेजे गए विद्युत बिल की जगह नया बिल भेजने, अतिरिक्त चार्ज नहीं लगाने व क्षतिपूर्ति और शिकायत खर्च दो हजार रुपये शिकायतकर्ता को देने के आदेश दिए हैं। शिकायतकर्ता अशोक कुमार पुत्र बुद्ब सिंह निवासी ग्राम रोहालकी किशनपुर, बहादराबाद हरिद्वार ने विद्युत विभाग के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। बताया था कि वर्ष 2012 से वह विद्युत कनेक्शन का उपयोग करते चला आ रहा है। इस दौरान कई बार कहने के बावजूद मीटर रीडिंग नहीं लगाई गई थी। शिकायतकर्ता नियमित रूप से विद्युत बिल भी जमा करता रहा है। शिकायतकर्ता ने बताया कि विद्युत विभाग के अधिकारी ने उसे 23598 रुपये का बकाया विद्युत बिल भेजा था। जबकि शिकायतकर्ता बकाया बिल जमा कर चुका है। ऐसी स्थिति में शिकायतकर्ता को भेजा गया उक्त विद्युत बिल गलत है। भेजे गए उक्त बिल को निरस्त करने की मांग की। जबकि शिकायतकर्ता लगातार विभाग के कर्मचारियों के संपर्क में रहा। थक हारकर शिकायत कर्ता ने आयोग की शरण ली थी।