सीटू व किसान सभा के कार्यकर्ताओं ने की महंगाई व बेरोजगारी पर रोक लगाने की मांग


 हरिद्वार। भारत छोड़ो आंदोलन की 79वीं वर्षगांठ पर सीटू जिला कमेटी एवं अखिल भारतीय किसान सभा हरिद्वार इकाई  द्वारा देश मे बढती मंहगाई, बेरोजगारी, आर्थिक मन्दी, स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाली के लिये केन्द्र एवं राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुये रैली व प्रदर्शन कर नगर मजिस्ट्रेट के माध्यम से राष्ट्रपति को 14 सूत्रीय मांग पत्र प्रेषित किया। मांग पत्र मे बढती मंहगाई पर रोक लगाने, श्रम कानूनो में संशोधन कर चार लेबर कोड को निरस्त कर पूर्व कानूनो की बहाली करने, तीनो कृषि कानूनो को वापस लेने, सार्वजनिक क्षेत्र के उघोगों के निजीकरण पर रोक लगाने, न्यूनतम वेतन 21 हजार रूपए प्रतिमाह किये जाने, किसानों को फसल का गारन्टीशुदा न्यूनतम समर्थन मूल्य दिये जाने, आवश्यक वस्तु अधिनियम पूर्व की भान्ति यथावत रखने, किसान आन्दोलन का समर्थन करने वाले आम नागरिको व किसानों पर दर्ज मुकदमे वापस लेने, बजट का 6 प्रतिशत स्वास्थ्य सेवाओं के लिये आवंटित करने, सभी नागरिको को एक समय सीमा के भीतर कोविड का मुफ्त टीकाकरण सुनिश्चत करने, पैट्रोल, डीजल, रसोई गैस, खाद्य तेल आदि में हो रही बेहताशा मूल्य बढोतरी पर रोक लगाने, मनरेगा मे दैनिक मजदूरी 600 रूपए करने व दौ सौ रूपए प्रतिदिन करने की मांगे शामिल हैं। सीटूकार्यकर्ता भेल स्थित यूनियन कार्यालय से बाईक रैली के रूप में प्रदर्शन करते हुए चंद्राचार्य चैक, ऋषिकुल व देवपुरा चैक होते हए नगर मजिस्ट्रेट कार्यालय पहुचे। रैली में बड़ी संख्या में सीटू व किसान सभा के कार्यकर्ता शामिल हुए। सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय पर प्रदर्शन के दौरान कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कामरेड पीडी बलूनी, आरसी धीमान व एमपी जखमोला ने कहा कि वर्ष 2014 मे केन्द्र मे मोदी सरकार के गठन के बाद से केन्द्र सरकार द्वारा जो नीतिया अपनाई जा रही हैं। उसके दुष्प्रभाव आज देश व प्रदेश की जनता को भुगतने पड रहे हैं। रसोई गैस, डीजल पैट्रोल, खाद्य तेल, खाद्य सामग्रियो, सब्जियों आदि के दामों मे बेहताशा बढौतरी व बेरोजगरी के कारण देश का जनमानस परेशान है। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि सरकार मांगों के निस्तारण हेतु तुरन्त प्रभावी कदम उठाये। प्रदर्शन करने वालों में इमरत सिंह, आर.पी. जखमोला, राज कुमार, के.पी. केष्टवाल, कदम सिंह, वीरेन्द्र सिंह, अशोक, आदेश, सहेन्द्र, जयपाल सिंह,दीपक, अरुण कुमार, सुनील, हरीश चन्द, लालदीन, सतकुमार, राजेन्द्र  कुमार, अबलिस कुमार, संदीप कुमार, अमरीश, विनोद कुमार, संजीव कुमार, सोनू त्यागी, जोनी कुमार आदि शामिल रहे।