अपर जिलाधिकारी राजस्व ने बकायेदारों से कम वसूली पर जतायी नाखुशी

 हरिद्वार। अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) बी.एस.मिश्रा की अध्यक्षता में जनपद हरिद्वार से सम्बन्धित मुख्य देय एवं विविध देय की वसूली के सम्बन्ध में बैठक हुई। बैठक में हरिद्वार,रूड़की तथा लक्सर के तहसीलदार मौजूद रहे। बैठक में जनपद हरिद्वार में वित्तीय वर्ष 2021-22 माह जून, 2021 तक मुख्य देय की शुद्ध मांग 15.76 लाख के सापेक्ष 1.41 लाख की वसूली की गयी, जो कि मांग का 09 प्रतिशत है। इसी प्रकार विविध देयों की शुद्ध मांग 12464.60 लाख के सापेक्ष 466.60 लाख की वसूली की गयी, जो कि कि मांग का 04 प्रतिशत है। इस सम्बन्ध में अपर जिलाधिकारी द्वारा अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए सम्बन्धित तहसीलदारों को निर्देशित किया गया है कि बड़े बकायेदारों को चिन्हित करते हुए इसकी सूची तैयार कर तहसील के बोर्ड पर सूची चस्पा करें। वसूली की नियमानुसार प्रक्रिया को पूरी करते हुए तत्काल जमा कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने तहसीलदारों को वसूली अभियान चलाकर वसूली में प्रगति हेतु निर्देशित किया। बैठक में तहसीलदार भगवानपुर के अनुपस्थित रहने पर अपर जिलाधिकारी ने स्पष्टीकरण लेने के निर्देश दिये।