पुलिस द्वारा कम्पनी में जाने से रोकने पर गेट पर घरना देकर बैठे

 हरिद्वार। सिडकुल स्थित एक कंपनी से निष्कासित कर्मचारियों का आंदोलन जारी है। आंदोलनरत कर्मचारियों को इंसाफ देने की मांग को लेकर उनके समर्थन में कुछ युवा बाइक से कंपनी पहुंचे,लेकिन पुलिस बल ने उन्हें अंदर जाने से रोक दिया। इसके बाद युवा कंपनी के गेट के बाहर धरने पर बैठ गए। युवाओं में शामिल यूथ कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता वरुण बालियान ने कहा कि पिछले चार साल से कंपनी के कर्मचारी अपने हक की लड़ाई लड़ रहे हैं। कहा कि कर्मचारियों को न्याय मिलने में देरी हो सकती है। लेकिन यह उनके साथ अन्याय नहीं होगा। कहा कि पुलिस से टकराव नहीं चाहते हैं। शनिवार को कोटद्वार के पूर्व विधायक शैलेंद्र सिंह रावत ने धरना स्थल पर पहुंचकर आंदोलनरत कर्मचरियों को अपना समर्थन दिया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार पूंजीपतियों के इशारे पर काम कर रही है। धरना देने वालों में अमरदीप रोशन, अमन कुमार, सुमित त्यागी, इल्मास इम्मी, शहाबुद्दीन अंसारी, अमन शर्मा, ओमप्रकाश चैधरी, अमित चंचल, सुनील कुमार, नौमान अंसारी, प्रीतम बर्मन, अंकित शर्मा, नवाज अब्बासी, अज्जू खान, भूपेंद्र वशिष्ठ, आयुष सैनी आदि शामिल रहे।