देश के सभी किसान संगठन एक मंच पर आकर सरकार के खिलाफ आंदोलन करेंगे


 हरिद्वार। उत्तराखण्ड के दो दिवसीय दौरे पर हरिद्वार पहुंचे भाकियू अबावता के राष्ट्रीय अध्यक्ष चैधरी ऋषिपाल अंबावता के नेतृत्व में भारतीय किसान यूनियन अंबावता द्वारा 11 सदस्य अनुशासन कमेटी का गठन किया गया। जिसमें राष्ट्रीय महासचिव रामपाल अंबावता को उत्तराखंड प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया गया। मध्य हरिद्वार स्थित होटल में पत्रकार वार्ता करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष चैधरी ऋषिपाल अंबावता ने कहा कि भारत एक कृषि प्रधान देश है। लेकिन सरकार लगातार किसानों की अनदेखी कर रही है। 7 महीने से गरीब किसान दिल्ली में धरने पर बैठे हैं। लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं की जा रही है। उन्होंने कहा कि पेट्रोल डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं। ऐसे में खेती करने में किसानों का अधिक व्यय हो रहा है। सरकार इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रही है। नए कृषि कानून बनाकर सरकार पूंजीपतियों को बढ़ावा दे रही है। देश का किसान आर्थिक तंगी के कारण लगातार आत्महत्या कर रहा है। जल्द ही देश के सभी किसान संगठन एक मंच पर आकर सरकार के खिलाफ आंदोलन करेंगे। उन्होंने देश के सभी किसान संगठनों से अपील की है कि एक मंच पर आकर अपने हक की लड़ाई लड़ंे। क्योंकि सभी किसानों की समस्याएं एक हैं और सरकार हठधर्मिता दिखाकर किसानों का शोषण कर रही है। देश का अन्नदाता किसान सड़कों पर आंदोलन को मजबूर है। लेकिन केंद्र सरकार किसानों की मांगे ना मानकर उनकी समस्याओं का हल नहीं कर पा रही है। चैधरी ऋषिपाल अंबावता ने कहा कि उत्तराखण्ड सरकार 15 दिन में गन्ना किसानों का बकाया भुगतान करे। अन्यथा सरकार के खिलाफ बड़ा आंदोलन किया जाएगा। आगामी विधानसभा चुनावों में और लोकसभा चुनावों में किसान अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे और पूरे देश में किसान संगठन विधानसभा और लोकसभा चुनाव में सरकार के खिलाफ अपने किसान प्रत्याशी उतारेंगे। चैधरी ऋषिपाल अंबावता ने बताया कि 22 अगस्त को रूड़की में विशाल किसान कुभ का आयोजन किया जाएगा और संगठन की गतिविधियों को तेज करने के लिए वे प्रत्येक दाम माह में उत्तराखण्ड का दौरा करेंगे। राष्ट्रीय महासचिव चैधरी रामपाल अंबाबता ने कहा कि केंद्र सरकार पेट्रोल डीजल पर किसानों को सब्सिडी प्रदान करें और स्वच्छता खाद उपलब्ध करा कर किसानों के बिजली के बिल माफ किए जाएं, अन्यथा किसान विरोधी सरकार को उखाड़ फेंकने का काम गरीब मजदूर और किसान करेंगे। लोकसभा और विधानसभा में किसान नेताओं को सदस्य होना चाहिए। जिससे किसानों की समस्याओं को पुरजोर तरीके से उठाकर उनका निवारण किया जा सके। इस दौरान हरिद्वार जिला अध्यक्ष सागर सिंह, राष्ट्रीय सचिव अजब सिंह, जिला प्रभारी निसार अहमद, संगठन मंत्री नितिन चैधरी, प्रदेश अध्यक्ष विकास सैनी, राष्ट्रीय प्रवक्ता आरके त्यागी, राजेश कुमार, फरमान त्यागी, रश्मि चैधरी, कोमल रानी, उस्मान रावत, जावेद, संदीप चैधरी, भूरा प्रधान आदि मौजूद रहे।