राष्ट्रीय धर्मशाला सुरक्षा समिति ने डीजीपी एवं पुलिस महानिरीक्षक को किया सम्मानित

 


हरिद्वार। कुम्भकाल एवं कोरोना महामारी के दौरान उत्तराखंड पुलिस द्वारा शुरू किए गए मिशन हौसला अभियान के अंतर्गत किए गए अतुलनीय सेवा कार्यों एवं उत्तम कानून व्यवस्था में राष्ट्रीय स्तर पर उत्तराखंड पुलिस को प्रथम स्थान मिलने पर राष्ट्रीय धर्मशाला सुरक्षा समिति एवं होटल एसोसिएशन हरिद्वार के पदाधिकारियों ने देहरादून स्थित पुलिस मुख्यालय में पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार व पुलिस महानिरीक्षक संजय गुंज्याल को स्मृति चिन्ह, पगड़ी व शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया। इस अवसर पर पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने बताया कि कोरोना महामारी से पीडित होकर जान गंवाने वाले 12 फीसदी मृतकों का अंतिम संस्कार उत्तराखंड पुलिस द्वारा कराया गया है। जो कि पुलिस के समाज के प्रति संवेदनशील चेहरे को परिभाषित करता है। उन्होंने कहा कि इस कोरोना काल में हरिद्वार के व्यापारियों, होटल मालिकों और धर्मशाला प्रबंधकों द्वारा सेवा कार्य करने के साथ पुलिस को भी सराहनीय सहयोग प्रदान किया। पुलिस महानिरीक्षक संजय गुंज्याल ने कहा कि हरिद्वार की जनता ने पूरे कुंभ काल में पुलिस और तीर्थयात्रियों के बीच एक सेतु का काम किया और प्रशासन का लगातार सहयोग किया है। जिसे वे कभी नहीं भूला पाएंगे। प्रतिनिधि मंडल द्वारा दोनों अधिकारियों को उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं देते हुए उम्मीद जताई कि दोनों अधिकारियों के नेतृत्व में उत्तराखंड पुलिस का संवेदनशील व मानवीय चेहरा और निखर कर जनता के सामने आएगा। प्रतिनिधि मण्डल में राष्ट्रीय धर्मशाला सुरक्षा समिति के अध्यक्ष महेश गौड़, हरिद्वार होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष पंडित आशुतोष शर्मा, हरिद्वार नागरिक मंच के जगदीश लाल पाहवा, धर्मशाला समिति के महामंत्री विकास तिवारी, कोषाध्यक्ष शिवकुमार शर्मा, भूषण ननकानी, भारत भूषण शर्मा, संजीव त्यागी, रमेश मिड्डा आदि शामिल रहे।