छेड़छाड़ के मामले को वापस लेने का दवाब बनाने पुलिस पर लगाया आरोप

 हरिद्वार। जगजीतपुर निवासी युवती ने पुलिस पर छेड़छाड़ करने वाले युवकों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया है। शनिवार को प्रैस क्लब में पत्रकारों से वार्ता करते हुए युवती ने बताया कि बीती 14 जून को वह अपने मित्र मोनू गुर्जर के साथ बाईक पर धनपुरा से कपड़े लेकर वापस लौट रही थी। इसी बीच गुरू राम राय स्कूल के सामने मोटरसाईकिल रोककर कुछ युवकों ने उसके साथ छेड़छाड़ की। जिसका मोनू ने विरोध किया तो उसके साथ युवकों ने मारपीट कर दी। जिसमें मोनू को चोट भी आयी। बीच बचाव करने पर उसे भी चोट लगी। इसकी शिकायत जगजीतपुर चैकी में दर्ज करायी गयी। लेकिन छेड़छाड़ करने वाले युवकों ने अपने खिलाफ दर्ज शिकायत को रफादफा कराने के लिए एक अन्य युवक आगे आकर उसके मित्र के खिलाफ मारपीट की झूठी शिकायत दर्ज करा दी। जिसमें कनखल थानें में मोनू व शिकायत दर्ज कराने वाले युवक आभास के बीच समझौता हो गया। युवती ने आरोप लगाया कि पुलिस छेड़छाड़ के मामले में पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। शिकायत वापस लेने के लिए उसके मित्र के खिलाफ मुकद्मा दर्ज कर दबाव बनाया जा रहा है। यदि पुलिस कार्रवाई नही करती है तो पुलिस महानिदेशक के समक्ष शिकायत की जाएगी। प्रैसवार्ता के दौरान मौजूद मोनू गुर्जर ने कहा कि छेड़छाड़ के मामले में की गयी शिकायत को वापस लेने व समझौता का दबाव बनाने के लिए उसके खिलाफ झूठा मुकद्मा दर्ज कराया गया है। मोनू ने आरोप लगाया कि छेड़छाड़ करने वाले युवक रसूखदास परिवारों से संबंध रखते हैं। इसलिए दबाव के चलते कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। मोनू ने कहा कि पुलिस को छेड़छाड़ करने वाले युंवकों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए। जिससे मित्र पुलिस की अच्छी छवि लोगों के सामने आ सके।