गंगा दशहरा पर विश्व कल्याण की प्रार्थना के साथ एक लाख 64 हजार पौधारोपण,

 हरिद्वार। गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में गायत्री जयंती एवं गंगा दशहरा का पर्व समूह साधना, विश्व कल्याण की प्रार्थना एवं पौधरोपण को गति देने के संकल्प के साथ मनाया गया। अखण्ड जप में सोशल डिस्टेसिंग के पालन के साथ साधकों ने भाग लिया। गायत्री परिवार प्रमुखद्वय ने वीडियो संदेश दिए। इसे शांतिकुंज व देवसंस्कृति विवि परिवार ने सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए एलईडी स्क्रीन के माध्यम से लाइव प्रसारण में भागीदारी की, तो वहीं देश-विदेश के गायत्री परिवार के कार्यकर्ता सोशल मीडिया के माध्यम से आनलाइन लाइव जुड़े। गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या ने कहा कि गायत्री साधक के विचारों को पवित्र करती हैं, तो पतित पावनी गंगा अपने शरण आये लोगों को शुद्ध करती हैं। कहा कि युगऋषि पं श्रीराम शर्मा आचार्य ने वैचारिक क्रांति को गति देने के उद्देश्य प्रचुर मात्रा में साहित्य का सृजन किया है। उन्होंने गुजरात, महाराष्ट्र, पं बंगाल, छत्तीसगढ़, मप्र आदि राज्यों में चलाये जा रहे पौधरोपण के लिए नर्सरी विकसित करने के विभिन्न सुझाव दिए। बताया कि रविवार को दिनभर में देश के विभिन्न स्थानों पर गायत्री परिवार ने एक लाख 64 हजार पौधे रोपे गये। संस्था की अधिष्ठात्री शैलदीदी ने कहा कि यह महापर्व जिम्मेदारी उठाने का है।