बैरागी कैंप में चार हनुमान मंदिर तोड़ना हिन्दू धर्म का अपमान-श्रीमहंत नरेंद्र गिरी

 हरिद्वार। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरी महाराज ने बैरागी कैंप में चार हनुमान मंदिर तोड़े को धर्म विरोधी कार्रवाई बताया है। प्रैस को जारी बयान में श्रीमहंत नरेंद्र गिरी महाराज ने कहा कि भगवान हनुमान के चार मंदिर एक साथ तोड़ा संत समाज और हिंदू समाज के लिए बहुत दुखद घटना है। इससे समस्त संत समाज और हिंदू समाज बेहद आहत है। उन्होंने कहा कि मंदिर तोड़ा जाना सनातन हिंदू धर्म का सबसे बड़ा अपमान है। इससे देश का समस्त संत समाज आहत हुआ है। केंद्र और उत्तराखण्ड में भाजपा की सरकार होने के बावजूद भगवान के मंदिर तोड़ा जाना दुर्भाग्यूपूर्ण है। सरकार को राजधर्म का पालन करते हुए तोड़ गए मंदिरों का पुर्ननिर्माण कराना चाहिए। प्रदेश सरकार बैरागी अखाड़ों को लीज पर भूमि उपलब्ध कराए। उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर जल्द ही अखाड़ा परिषद के पदाधिकारी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से मिलकर मंदिरों और संत निवास के पुर्ननिर्माण की मांग करेंगे साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व गृहमंत्री अमित शाह से भी भेंट करेंगे।