श्रद्वालुओं ने दी ब्रहमलीन गुरु योगेश्वर पुष्पनंदन महाराज को भावभीनी श्रद्धांजलि

हरिद्वार। सिद्धपीठ सिद्धाश्रम के परमाध्यक्ष आध्यात्मिक गुरु ब्रह्मलीन योगेश्वर पुष्प नंदन महाराज की षोडशी पर श्रद्धालु भक्तों ने उनका भावपूर्ण स्मरण करते हुए श्रद्धासुमन अर्पित किए। ब्रह्मलीन पुष्पनंदन महाराज के परम शिष्य राजेश अंगिरा के संयोजन में आयोजित कार्यक्रम में श्रद्धालु भक्तजनो ने उनकी समाधी पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित की।  इस अवसर राजेश अंगिरा ने कहा कि आध्यात्मिक विभूतियां केवल देह त्याग करती हैं। उनकी आत्मा भक्तों का मार्गदर्शन व उनके कल्याण के लिए सदैव उपस्थित रहती है। ब्रह्मलीन योगेश्वर पुष्पनंदन महाराज का निधन आध्यात्मिक जगत के लिए अपूर्णीय क्षति है। जिसे कभी पूरा नहीं किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि गुरू देव योगेश्वर पुष्पनंदन महाराज भले ही हमारे मध्य स्थूल रूप में उपस्थित नहीं है। लेकिन वे सूक्ष्म रूप में सदैव हमारे साथ रहेंगे। उनकी आध्यात्मिक शक्ति, चेतना और गुरु सत्ता सदैव श्रद्धालु भक्तों का मार्गदर्शन करती रहेगी। उन्होने कहा कि आश्रम की व्यवस्था पूर्व की भांति उनके ही सानिध्य में संचालित होती रहेगी। सभी गुरु भाई बहन गुरुदेव के विनम्र सेवक बन कर व्यवस्था के संचालन में सहयोग करते रहेंगे।