संकट के दौर में संत समाज देश के साथ,प्राणों की रक्षा में हरसंभव सहयोग-महंत मनीष दास

 हरिद्वार। अखिल भारतीय श्रीपंच रामानंदीय खाकी अखाड़े के अधिकारी महंत मनीष दास महाराज ने कहा है कि कोरोना महामारी से गुजर रहे संकट के इस दौर में सभी को मिलजुल कर गरीबों की सहायता हेतु आगे आना चाहिए। बैरागी कैंप स्थित अखाड़े में प्रैस को जारी बयान में महंत मनीष दास महाराज ने कहा कि आज पूरा विश्व कोरोना महामारी से त्रस्त है। विपत्ती के इस दौर में संत समाज देश के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है।  लंबे समय से संकट के दौर से गुजर रहे गरीब तबके के लोगों के सामने रोजी रोटी का संकट गहरा गया है। ऐसे में समाज के प्रत्येक व्यक्ति को आगे आकर सामर्थ्य अनुसार समाज सेवा के लिए तत्पर रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब जब देश पर कोई भी संकट आया है तब तब भारत के संतो ने अग्रणीय भूमिका निभाकर देश का साथ निभाया है। उन्होंने कहा कि संतों का जीवन सदैव ही परोपकार को समर्पित रहता है। महंत मनीष दास महाराज ने कहा कि सेवा में ही जीवन का आनंद है और मानव सेवा ही सबसे बड़ा धर्म है। मंत्री महंत प्रेमदास महाराज ने कहा कि संत समाज राष्ट्र निर्माण में सदैव भूमिका निभाता चला आ रहा है। कोरोना महामारी के चलते संपूर्ण देश की अर्थव्यवस्था डगमगा गई है। ऐसे में दिहाड़ी मजदूरों पर काम ना मिलने के कारण रोटी का संकट गहरा रहा है। उन्होंने सभी देशवासियों से अपील करते हुए कहा कि संकट की इस घड़ी में धैर्य का परिचय देते हुए घर में ही रहे और कोरोना नियमों का पूर्ण रूप से पालन करें। इस दौरान महंत गौरीशंकर दास, महंत मोहनदास खाकी, महंत भगवान दास खाकी, महंत अर्जुन दास, महंत अगस्त दास, महंत नरेद्र दास, महंत महेश दास, महंत नागा सुखदेव दास, महंत रामदास, महंत रामजी दास, महंत रामकिशोर दास शास्त्री आदि संत उपस्थित रहे।