व्यापारियों ने हर की पैड़ी पर सांकेतिक भीख मांगकर जताया विरोध

हरिद्वार। प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के बैनर तले सोमवार को व्यापारियों ने हरकी पौड़ी स्थित संजय पुल पर सांकेतिक रूप से भीख मांगकर सरकार के प्रति नाराजगी जताई और व्यापारियों की स्थिति को महसूस कराने का कार्य किया। इस अवसर पर प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के जिला महामंत्री संजय त्रिवाल ने रोष व्यक्त करते हुए कहा कि इस समय कोई भी जनप्रतिनिधि उनकी वेदना सुनने को तैयार नहीं है, जिला प्रशासन ने व्यापारियों को दो भागों में बांट दिया है जिसमें कईयों की दुकानें खुली हैं तो कईयों की दुकानें बंद पड़ी हैं।आज स्थिति यह है कि व्यापारी जाए तो कहां जाए, उन्होंने कहा कि आज तो हरकी पौड़ी पर सांकेतिक रूप से भीख मांग कर जनप्रतिनिधियों व्यापारियों की वेदना एवं आर्थिक स्थिति से वाकिफ करवा रहे हैं अभी भी अगर सुनवाई नहीं हुई तो जनप्रतिनिधियों के घर जाकर भीख मांगेंगे। उन्होंने कहा कि स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं जिला प्रशासन हमारे सब्र का इम्तिहान ना लें हम सरकार को जीएसटी सहित सभी टैक्स देते हैं, व्यापारी कोई भिखारी नहीं होता है उसे जबरन एक सुनियोजित योजना के तहत भिखारी बनाया जा रहा है। इसका जवाब वर्ष 2022 में विधानसभा चुनाव में व्यापारी जरूर देगा। इस अवसर पर श्री गुरू गोरक्षानाथ व्यापार मण्डल महामंत्री अतुल चैहान ने कहा कि उत्तराखंड सरकार तथा जिला प्रशासन को व्यापारी की वेदना को समझना चाहिए तथा प्रत्येक व्यापारी को दो-दो लाख का आर्थिक पैकेज सहायता राशि के रूप में देना चाहिए। जब किसानों को किसान सम्मान निधि से आर्थिक सहायता दी जा सकती है तो हम व्यापारी क्या भारत के निवासी नहीं हैं। इस अवसर पर व्यापारी नेता मनोज विश्नोई ने कहा कि पंडों की गद्दी पर सभी सामान बिक रहा है या तो उसे भी बंद किया जाए अन्यथा हम सभी व्यापारियों को जहर दे दिया जाए। जिला प्रशासन और हरिद्वार के जनप्रतिनिधि बताएं कि हम कहा जाएं और किसके पास जाएं। इस अवसर पर ओम प्रकाश, संजीव सक्सेना, राजीव शर्मा, शोभित सिंघल, सागर सक्सेना, दीपक कुमार, नितिन चैहान, सुरेश शाह, सतीश चैहान, सूरज कुमार, नितीश कुमार, सुनील कुमार, मनीष चैहान आदि उपस्थित रहे।