अखाड़ा की रसोई में आग लगने से पण्डाल जलकर राख

 हरिद्वार। नगर कोतवाली क्षेत्रान्गर्त दूधाधारी चैक पर गुरु कांक्षणी आश्रम बड़ा उदासीन अखाड़ा की रसोई में आग लगने से अखाड़ा का पूरा पंडाल जलकर स्वाह हो गया। रसोई में रखे 40 सिलेंडरों को बाहर निकाला गया, जिसके बाद आग पर काबू पाया गया। सिंलेडर न निकाले जाते तो बड़ा हादसा हो सकता था। सीएफओ नरेंद्र सिंह कुंवर ने बताया कि रविवार को दूधाधारी चैक के पास बने बड़ा अखाड़ा के गुरु कांक्षणी आश्रम की रसोई में खाना बनाया जा रहा था। इस दौरान अचानक गैस की भट्टी और सिलेंडर को जोड़ने वाला पाइप लीक में आग लग गई। जिससे उसने आग पकड़ लिया। आग को लोगों ने किसी तरह बुझा दिया और सिलेंडर अलग रख दिए। अचानक तेज हवा चलने के बाद दोबारा आग लग गई। दोबारा जब आग लगी तो अन्य सिलेंडरों ने भी आग पकड़ ली। कुछ ही मिनटों में आग ने विकराल रूप ले लिया और पूरे पंडाल में आग लगी और पंडाल जलना शुरू हो गया। सूचना मिलते ही अग्निशमन विभाग की 9 गाड़ियां मौके पर पहुंचीं और अपर मेलाधिकारी ललित नारायण मिश्रा, सीएफओ नरेंद्र सिंह कुंवर ने मौके पर आ गए। डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया था।