मुस्लिम समुदाय ने फूंका कुरान की आयतें हटाने की मांग करने वाले वसीम रिजवी का फूंका

 हरिद्वार। शिया सुन्नी समुदाय के लोगों ने अहबाब नगर चैराहे पर हैदर नकवी व राजा अली के संयोजन में कुरान पाक की आयतों पर टिप्पणी करने वाले वसीम रिजवी के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन कर पुतला दहन किया। भारत सरकार से वसीम रिजवी के खिलाफ बेबुनियाद टिप्पणी किए जाने पर कानूनी कार्रवाई की मांग की। इस दौरान हैदर नकवी ने कहा कि कुरान पाक की आयतों पर बेबुनियाद मनगढ़ंत टिप्पणी करना किसी भी रूप से सहन नहीं किया जाएगा। मानसिक संतुलन खो चुके वसीम रिजवी द्वारा अमर्यादित टिप्पणी कर देश के मुस्लिम समाज की भावनाओं को आहत किया गया है। हैदर नकवी ने कहा कि देश में अमनोचैन व मेल मिलाप से शिया सुन्नी समुदाय के लोग रहते चले आ रहे हैं। आपसी भाईचारा व एकता को बिगाड़ने की नीयत से वसीम रिजवी ने इस तरह की अशोभनीय टिप्पणी व कलाम पाक की आयतों को हटाने की मांग सरासर गलत है। धार्मिक ग्रंथों से किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मांग की कि वसीम रिजवी की जांच की जाए कि किन लोगों की शह पर इस तरह की मांग की गयी। वसीम रिजवी के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई को सुनिश्चित किया जाना चाहिए। राजा अली ने कहा कि देश को शिया सुन्नी समुदाय वसीम रिजवी द्वारा की गयी मांग से कोई इत्तेफाक नहीं रखता है। ऐसे लोग अपना मानसिक संतुलन खो चुके हैं। सरकार को वसीम रिजवी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि शिया सुन्नी समुदाय देश में अमनोचैन बनाए रखने के लिए अपना योगदान देता चला आ रहा है। ऐसे बयान देने वाले वसीम रिजवी के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई को अमल में लाना चाहिए। प्रदर्शन में शामिल शिया व सुन्नी दोनों समुदायों के लोगों ने एक सुर में वसीम रिजवी के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करने और गिरफ्तार कर जेल भेजने की मांग की। प्रदर्शन व पुतला दहन करने वालों में फिरोज जैदी, एहतेशाम, जहांगीर खान, दानिश, आमिर खान, साबिर, कासिफ, डा.मोनिश, शादाब अंसारी, कादिर अंसारी, खुशनवाज, नसीम, इंतजार, अखलाक, खालिद, सोहेल, सालिम, हुसैन हैदर आदि शामिल रहे।