सीएनजी पम्प के कर्मी को लूटने की कोशिश के मामले में तीन गिरफ्रतार

 हरिद्वार। थाना बहादराबाद पुलिस ने सीएनजी पम्प के कर्मचारियों से कैश लूटने की कोशिश करने के मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। मामले में घटना का तानाबाना बुनने वाले सीएनजी पम्प के कर्मचारी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपियों के कब्जे से घटना में प्रयुक्त बाईक, तमंचा व एक जिंदा कारतूस बरामद हुआ है। तीनों आरोपी उ.प्र. के हापुड़ जनपद के एक ही गांव के रहने वाले हैं। मुर्गीफाॅर्म के बिजनेस में हुए नुकसान की भरपाई के लिए आरोपियों ने लूटपाट की योजना बनाई थी। घटना के खुलासे पर एसएसपी की ओर से पुलिस टीम को ढाई हजार रूपए का ईनाम देने की घोषणा की है। इस सम्बन्ध में बहादराबाद थाने में घटना का खुलासा करते हुए एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि बीती 2 मार्च को बैंक में कैश जमा कराने के लिए मोटरसाईकिल से शिवालिक नगर जा रहे रानीपुर झाल स्थित सीएनजी पंप के दो कर्मचारियों से रानीपुर झाल के पास मोटरसाईकिल पर आए दो बदमाशों ने तमंचे के बल पर लूट का प्रयास किया था। लेकिन कर्मचारियों की सतर्कता के चलते बदमाशों का प्रयास नाकाम हो गया था। लूट के प्रयास का मुकद्मा दर्ज करने के बाद बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए गठित थाना बहादराबाद व सीआईयू की टीम ने मुखबिर की सूचना पर नहर पटरी से बाईक सवार दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में दोनों ने अपने नाम संदीप व देव तोमर उर्फ हरीश तोमर बताए। दोनों उ.प्र.के हापुड़ जनपद के ग्राम भटियाना के रहने वाले हैं। पूछताछ में उन्होंने बताया कि मुर्गीफार्म बिजनेस में हुए घाटे को पूरा करने के लिए उन्होंने सीएनजी पंप पर काम करने वाले गांव के ही राहुल तोमर से मदद मांगी तो उसने कहा कि पंप पर काफी पैसा इकठ्ठा होता है। जिसे मैनेजर जमा कराने के लिए बैंक जाता है। मैनेजर को लूट लेते हैं और पैसा आपस में बांट लेंगे। राहुल की सलाह पर वे दोनों तमंचा व कारतूस लेकर मोटरसाईकिल से हरिद्वार आ गए और सिंहद्वार के पास एक धर्मशाला में ठहर गए। घटना को अंजाम देने के लिए दो दिन तक उन्होंने सीएनजी पंप के आसपास के रास्तों की रेकी की। घटना वाले दिन जब पंप से दो लोग मोटर साईकिल से कैश जमा करने के लिए बैंक के लिए निकले तो वे पीछे लग गए। रानीपुर झाल के पास उन्होंने कैश से भरा बैग छीनने का प्रयास किया तो लेकिन कर्मचारियों ने बैग नहीं छोड़ा। इस पर उन्होंने तमंचा तानकर उन्हें धमकाया। लेकिन उन्होंने अचानक मोटरसाईकिल रोक दी और कैश का बैग लेकर पुल के बंधे से नीचे कूद गए और शोर मचा दिया। शोर मचाने से वे डर गए और तमंचा झाड़ियों में फेंक दिया। मोटरसाईकिल से पहचान हो सकती है। इस डर से मोटरसाईकिल भी वहीं झाड़ियों में छुपा दी और वापस गांव चले गए। एसपी सिटी ने बताया कि संदीप व देव तोमर के तीसरे साथी सीएनजी पंप पर काम करने वाले राहुल पाल को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपियों की निशानदेही पर झाड़ियों से कारतूस लगा तमंचा व बाईक भी बरामद कर ली गयी है। पुलिस टीम में बहादराबाद थाना अध्यक्ष संजीव थपलियाल, एसआई रणजीत तोमर, एसआई प्रवीण बिष्ट, कांस्टेबल अरविन्द नेगी व प्रेम सिंह तथा सीआईयू प्रभारी दीप कुमार, हेड कांस्टेबल सुन्दरलाल, कांस्टेबल पदम, अजय कुमार, उमेश, हरवीर आदि शामिल रहे।