दशनाम सन्यासी अखाड़ों ने जयकारों के साथ किया कुंभ का शाही स्नान

 सुरक्षा के खास इंतजाम,आम लोगों का प्रवेश रहा बंद,हेलीकाॅप्टर से पुष्प वर्षा

हरिद्वार। श्रवण कुमार झा/कमल मिश्रा -प्रथम शाही स्नान पर्व पर हर हर महादेव के जयकारों के साथ विभिन्न सन्यासी अखाड़ो के नागा बाबाओं संग संतो,महात्माओं ने पवित्र हर की पैड़ी स्थित ब्रहम कुण्ड में डुबकी लगाकर पूण्य अर्जित किए। इस दौरान हर हर महादेव,बम बम भोले के जयकारों से वातावरण शिवमय हो गया। इस दौरान राज्य सरकार की ओर से हेलीकाॅप्टर के जरिये संतो के स्नान के लिए जाते समय शाही पेशवाई पर पुष्प वर्षा किया गया। सुरक्षा के खास इंतजामात किये गये थे। कुम्भ मेला 2021 के तहत महाशिवरात्रि पर्व के मौके पर प्रथम शाही स्नान शांति पूर्ण सम्पन्न हो गया। गुरूवार को सबसे पहले श्री पंच दशनाम जूना अखाड़ा ने स्नान शुरू किया, जिसकी अगुआई जूना आखाड़ा के आचार्य महाममडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि ने की। जूना पीठाधीश्वर के संग सैकड़ो नागाओं,के साथ साथ अखाड़े के अन्र्तराष्ट्रीय सभापति श्रीमहंत प्रेमगिरि,महामण्डलेश्वर स्वामी वीरेन्द्र गिरि,महामण्डलेश्वर स्वामी उमाकांत महाराज सहित विभिन्न संतो ने गंगा स्नान किए। जूना अखाड़ा के बाद श्रीपंच दशनाम अग्नि अखाड़ा के संतो ने फिर श्रीपंच दशनाम आवाहन अखाड़ा के आचार्य महाण्डलेश्व के साथ महामण्डलेश्वरों ने स्नान किया। फिर किन्नर अखाड़े के संतो ने आचार्य महामण्डलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी की अगुवाई में पहली बार शाही  स्नान में शामिल हुई। गुरूवार को महाशिवरात्रि पर्व के मौके पर होने वाले प्रथम शाही स्नान में सात संयासी अखाड़ों ने पहला शाही स्नान किया। आचार्य महामंडलेश्वरों के नेतृत्व अखाड़ों के श्रीमहंत, महंत व नागा संसासी अपनी छावनियों से शाही जुलूस के साथ हर की पैड़ी पहुंचे और बारी बारी से ब्रह्मकुंड पर गंगा स्नान किया।
अखाड़ों के लिए तय किए स्नानक्रम के अनुसार सबसे पहले जूना, अग्नि व आह्वान अखाड़े के साथ किन्नर अखाड़ा स्नान के लिए हरकी पैड़ी पहुंचे। इसके बाद निरंजनी व आनन्द अखाड़ा उसके बाद महानिर्वाणी व अटल अखाड़े के संत हरकी पैड़ी पहुंचे। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने हरकी पैड़ी पहुंचकर स्नान के लिए पहुंचे निरंजनी अखाड़े के संतों को फूलमाला पहनाकर स्वागत कर आशीर्वाद लिया। मुख्यमंत्री बारी बारी से स्नान के लिए हरकी पैड़ी अखाड़ों के संतों पर पुष्पवर्षा भी की । संतों ने मुख्यमंत्री को फूलमाला पहनाकर आशीर्वाद लिया। हरकी पैड़ी की प्रबंधकारिणी संस्था श्रीगंगा सभा के अध्यक्ष प्रदीप झा, महामंत्री तन्मय वशिष्ठ आदि पदाधिकारियों ने स्नान के लिए पहंुचे सभी संतों का स्वागत किया। गंगा सभा की ओर से संतों के स्वागत के लिए पहुंचे मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत का स्वागत किया गया।