बैंक कर्मचारियों की निजीकरण के खिलाफ दूसरे दिन भी हड़ताल जारी

 हरिद्वार। नगर में बैंक कर्मचारियों ने दूसरे दिन भी निजीकरण के खिलाफ हड़ताल जारी रखी। सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध प्रदर्शन किया। निजीकरण के फैसले को वापस लेने की मांग उठाई। हड़ताल के चलते दूसरे दिन भी बैंकों में कामकाज ठप रहा। जिस वजह से उपभोक्ताओं को परेशानियों का सामना करना पड़ा। मंगलवार को दूसरे दिन यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के बैनर तले चंद्राचार्य चैक स्थित पंजाब नेशनल बैंक के बाहर बैंक कर्मचारियों ने हड़ताल कर सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। जिला संयोजक राज कुमार सक्सेना ने कहा कि सरकार बैंक कर्मचारियों की मांगों को लंबे समय से दरकिनार करने का काम कर रही है। वर्तमान सरकार ने बजट में सार्वजनिक बैंकों के निजीकरण की घोषणा कर आम आदमी तक सस्ती एवं सुलभ वित्तीय सेवाओं को पहुंचने में बाधा उत्पन्न करने का काम किया है। एनबी कपूर ने कहा कि सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों का हर स्तर पर विरोध किया जाएगा। बैंकों का निजीकरण किसी भी हाल में नहीं होने दिया जाएगा। इसके लिए कर्मचारियों को चाहे भूख हड़ताल क्यों न करनी पड़े। प्रदर्शन करने वालों में बालकिशन गुलाटी, अनुज, अरविंद, सुनील, दिनेश, आरएल गुप्ता, रवीश अहमद, वंदना, अंजना शुक्ला, नमिता, ऋतिजा, हिमांशु, पवन, सुरेश शर्मा, कुंदन सिंह रावत, गौरव अरोड़ा, आलम अंसारी, शांति पुनेठा, अर्चना, साधना आदि शामिल रहे।