भ्रष्टाचार और शोषण का केन्द्र बन गया है विकास प्राधिकरण-अम्बरीष कुमार

 हरिद्वार। हरिद्वार रूड़की विकास प्राधिकरण को समाप्त करने की मांग को लेकर शहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं व कांग्रेस पार्षद दल ने सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय के समक्ष धरना दिया। धरने को संबोधित करते हुए पूर्व विधायक अम्बरीष कुमार ने कहा कि हरिद्वार रुड़की विकास प्राधिकरण भ्रष्टाचार और शोषण का केंद्र बन गया है। शहर के विकास के लिए गठित प्राधिकरण विकास कराने में पूरी तरह नाकाम सिद्ध हुआ है। प्राधिकरण को बताना चाहिए कि राज्य सरकार से कितना धन प्राप्त हुआ और कितना कुंभ और शहर के विकास पर खर्च किया गया। प्राधिकरण को यह भी बताना चाहिए कि नगर निगम और ग्रामीण क्षेत्रों से कितना राजस्व वसूल किया और कितना वहां के विकास कार्यो पर खर्च किया गया। एचआरडीए को समाप्त करने की मांग का पूरे जनपद मं फैलाकर इसे जन आंदोलन बनाया जाएगा और सरकार को प्राधिकरण को समाप्त करने पर मजबूर किया जाएगा। कांग्रेस प्रदेश महासचिव संजय पालीवाल ने कहा कि महायोजना के नाम पर मात्र खानापूर्ति हो रही है। प्राधिकरणो के कानून और नियमों के चलते मध्यमवर्ग और निम्न वर्ग के लोग परेशान हैं और इस परेशानी का लाभ प्राधिकरण के लोग उठा रहे हैं। वरिष्ठ कांग्रेसी नेता मुरली मनोहर व अशोक शर्मा ने कहा कि हरिद्वार के एक तरफ गंगा बहती है। दूसरी तरफ शिवालिक पर्वत है। ऐसे में प्राधिकरण के नियमों का पालन संभव नहीं और इसका लाभ प्राधिकरण के अधिकारी और कर्मचारी उठाते हैं। पूर्व पार्षद अमन गर्ग ने कहा कि भाजपा सरकार द्वारा की गई पहाड़ों पर विकास प्राधिकरण समाप्ति की घोषणा उसकी भेदभाव पूर्ण नीति को प्रदर्शित करती है। शहर महासचिव हाजी शहाबुद्दीन अंसारी ने कहा कि नियोजित विकास के नाम पर अनियोजित और अनियंत्रित विकास हो रहा है। स्वीकृत आवासीय कॉलोनी या कॉम्प्लेक्स मुट्ठी भर है और प्राधिकरण की मिलीभगत से अनाधिकृत कॉलोनी व्यापारिक प्रतिष्ठानों की बाढ़ आ गयी है। यूथ कांग्रेस के जिला कार्यकारी अध्यक्ष रवि बहादुर ने कहा कि हरिद्वार रुड़की विकास विकास प्राधिकरण में हो रही अनियमितताओं की शिकायत किए जाने पर कोई सुनवाई नहीं की जाती है। धरने का संचालन पार्षद राजीव भार्गव व अध्यक्षता सद्दीक गाड़ा ने की। धरना देने वालों में नईम कुरेशी, यशवंत सैनी, संजय अग्रवाल, अंकित चैहान, विशाल राठौर, अनिल भास्कर, हिमांशु बहुगुणा, तहसीन पार्षद, सुहैल कुरैशी पार्षद, सुमित भाटिया, पुनीत कुमार, दिनेश पुंडीर, तेजियान, अनंत पांडेय, वसीम सलमानी, शिवम् गिरी, शेर खान, दीपक कोरी, उदयवीर चैहान पार्षद, आयुष सैनी, कैलाश भट्ट पार्षद, मुन्ना मास्टर, सुनील कुमार, राजेन्द्र चुटैला, मिथिलेश गिल, आकाश भाटी, नितिन यादव, थानेश्वर, अज्जू, सत्यम शर्मा, सोनू शर्मा, अजय राजपूत, गुलजार, हनीफ, हरजीत सिंह, परमजीत सिंह, राजेश आदि कार्यकर्ता शामिल रहे।