भोलानंद सन्यास आश्रम के अध्यक्ष का समाजसेवी ने किया स्वागत

 हरिद्वार। श्री श्री भोलानंद सन्यास आश्रम के अध्यक्ष चुने गए स्वामी तेजशानंद गिरी महाराज का अखण्ड परशुराम अखाड़े के अध्यक्ष पंडित अधीर कौशिक ने फूलमाला पहनाकर स्वागत कर आशीर्वाद लिया। रविवार को आश्रम में संतों की बैठक के दौरान सर्वसम्मति से स्वामी तेजशानंद गिरी महाराज को आश्रम का अध्यक्ष चुना गया था। इसके अलावा स्वामी गोपालांनद गिरी सचिव, स्वामी सुप्रकाशनंद गिरी सह सचिव चुने गए हैं। स्वामी तेजशानंद गिरी महाराज को फूलमाला पहनाकर स्वागत करते हुए पंडित अधीर कौशिक ने कहा कि स्वामी तेजशानंद गिरी महाराज के सानिध्य में आश्रम सेवा के प्रमुख केंद्र के रूप में स्थापित होगा। आश्रम से चलाए जा रहे सेवा प्रकल्पों में बढ़ोतरी होगी। जिसका लाभ जरूरतमंदों, गरीब, असहायों को मिलेगा। युवा संतों को स्वामी तेजशानंद गिरी महाराज से प्रेरणा लेनी चाहिए। स्वामी तेजशानंद गिरी महाराज ने कहा कि संत परंपरा के अनुरूप आश्रम को सेवा के प्रमुख केंद्र के रूप में स्थापित किया जाएगा। धार्मिक संस्कृति का प्रचार प्रसार कर सनातन पंरपरांओं को मजबूत बनाया जाएगा। उन्होंने भक्तों से आह्वान करते हुए कहा कि गंगा की निर्मलता, स्वच्छता, अविरलता को लेकर सभी को सहभागिता निभानी चाहिए। सचिव स्वामी गोपालानंद गिरी महाराज ने कहा कि संत की वाणी समाज को दिशा दशा देने का काम करती है। स्वामी तेजशानंद गिरी के नेतृत्व में आश्रम सनातन परंपरांओं को मजबूती प्रदान के लिए प्रमुख भूमिका निभाएगा। भारतीय मानवाधिकार मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष मुकेश गुप्ता ने कहा कि स्वामी तेजशानंद गिरी महाराज तपस्वी व महान संत हैं। उनके नेतृत्व में श्री श्री भोलानंद सन्यास आश्रम सनातन धर्म का प्रमुख केंद्र बनेगा। इस दौरान स्वामी सुप्रकाशानंद गिरी, स्वामी निर्भेदानंद गिरी, स्वामी निर्मलानंद सरस्वती, स्वामी सच्चिदानंद सरस्वती, स्वामी महानन्द सरस्वती, राधे आदि मौजूद रहे।