कांग्रेस पार्टी ने हमेशा किसानों और मजदूरों के उत्थान एवं रोजगार के अवसर अधिक से अधिक उपलब्ध कराएं हैं

 हरिद्वार। भेल की हीप एवं सीएफएफपी की 3 यूनियनों द्वारा हेवी इलेक्ट्रिकल्स वर्कर्स ट्रेड यूनियन कार्यालय में प्रदेश कांग्रेस महासचिव संजय पालीवाल काशीपुर जिला प्रभारी, प्रदेश उपाध्यक्ष एवं पूर्व विधायक रामयश सिंह को अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति प्रकोष्ठ प्रभारी तथा इंजीनियर एसपी सिंह को अनुशासन समिति का सदस्य बनाए जाने पर यूनियन के पदाधिकारियांे तथा भेल के सैकड़ों मजदूरों ने माल्यार्पण कर अभिनंदन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता हेवी इलेक्ट्रिकल्स वर्कर्स ट्रेड यूनियंस के कार्यवाहक अध्यक्ष जगत सिंह रावत जी ने तथा संचालन यूनियन के महामंत्री विकास सिंह ने किया। इस अवसर पर संजय पालीवाल ने कहा कि उत्तराखंड में जब से भाजपा की सरकार बनी है तब से प्रदेश में भ्रष्टाचार एवं अराजकता में बढ़ोतरी हुई है। सरकार युवाओं को रोजगार के अवसर देने में पूर्णता नाकाम रही है। पूरे प्रदेश में अवैध रूप से शराब एवं नशे का कारोबार धड़ल्ले से खुलेआम हो रहा है और सरकार इसे रोकने में  पूर्णताया नाकाम है। रामयश सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने हमेशा किसानों और मजदूरों के उत्थान एवं रोजगार के अवसर अधिक से अधिक उपलब्ध कराएं हैं। भाजपा सरकार संसद में मजदूर विरोधी कानून पास कराकर मजदूरों के अधिकारों का हनन करने के साथ तीन कृषि विरोधी बिल पास करा कर किसानों की जमीनों को हड़पने की साजिश कर रही है। केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनने पर सबसे पहले मजदूरों तथा किसान विरोधी बिलों को निरस्त किया जाएगा। इंजीनियर एसपी सिंह ने कहा कि जिस जिस प्रदेश में प्रदेश में भाजपा की सरकार है। वहां महिलाओं के साथ उत्पीड़न की घटनाओं में अप्रत्याशित बढ़ोतरी हुई है। कार्यक्रम में संजय अग्रवाल अध्यक्ष महानगर कांग्रेस कमेटी, महेश प्रताप राणा पूर्व प्रदेश सचिव, मारकंडेय सिंह जिला उपाध्यक्ष कांग्रेस, यशवंत सैनी ब्लॉक अध्यक्ष ज्वालापुर, चैधरी गुलबीर सिंह ब्लॉक अध्यक्ष शिवालिक नगर, अशोक उपाध्याय, अमित गोगना, जयशंकर, रवि कश्यप, अर्जुन सिंह, बलवीर सिंह रावत, राकेश मालवीय, अरविंद मावी, कामता प्रसाद, प्रहलाद सिंह चैहान, सत्येन्द्र प्रताप सिंह, कमलेश राय, नवीन कुमार, डब्बू अशोक सिंह, संदीप जोशी, बीडी शुक्ला, महावीर कश्यप, विपिन कश्यप, विरेंद्र सिंह भदोरिया, इस्तिखार, दीपक पाल, विजय यादव, भवानी प्रसाद, आदि सहित भेल के सैकड़ों कर्मचारी उपस्थित रहे।