साल के पहले स्नान पर्व पर साढे छह हजार यात्री ही 21 जोड़ी टेªन से पहुचे

 हरिद्वार। 2021 कुंभ वर्ष के पहले पर्व स्नान पर ट्रेनों से अपेक्षित यात्री नहीं पहुंचे। शाम तक 6500 यात्री ही 21 जोड़ी ट्रेनों से धर्मनगरी हरिद्वार पहुंचे। वहीं, 2300 यात्रियों ने वापसी भी की। हालांकि, भीड़ बढ़ने पर रेलवे प्रशासन की ओर से तीन अतिरिक्त ट्रेनों की व्यवस्था की गई थी, लेकिन अतिरिक्त संचालन की जरूरत नहीं पड़ी। मुरादाबाद रेल मंडल के मंडल रेल प्रबंधक तरुण प्रकाश, वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक रेखा शर्मा, एडीआरएम एनएनसिंह समेत मंडल के वरिष्ठ अधिकारियों ने हरिद्वार रेलवे स्टेशन पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया। आगामी पर्व और शाही स्नान की तैयारियों की रूपरेखा बनाई। कुंभ मेले को निर्विघ्न संपन्न कराने को रेलवे प्रशासन की ओर से व्यापक तैयारी की गई थी। कोरोना काल में रद जनता, हावड़ा, कुंभ, उपासना, योगा, ओखा समेत 21 जोड़ी ट्रेनों का पुनर्संचालन किया गया। एक ट्रेन की क्षमता दो हजार यात्रियों की है। इस हिसाब से रेलवे की ओर से 42 हजार श्रद्धालुओं को लाने की व्यवस्था गई थी लेकिन शाम छह बजे इन ट्रेनों से केवल 6500 यात्री पहुंचे। वहीं, 2300 यात्रियों ने वापसी की। हालांकि, रेलवे प्रशासन की ओर से तीन अतिरिक्त ट्रेनों की व्यवस्था की गई थी। पर रूटीन ट्रेनों में ही अपेक्षित श्रद्धालु न आने के चलते अतिरिक्त संचालन की जरूरत नहीं पड़ी। रेलवे के उच्चाधिकारियों ने रेलवे स्टेशन का निरीक्षण कर तैयारियों का जायजा लिया। आगामी पर्व और शाही स्नान की तैयारियों की रूपरेखा बनाई। अधीनस्थों को अहम निर्देश दिए।