ऋषिकुल आयुर्वेदिक काॅलेज में सम्पन्न हुआ शिष्य उपनयन संस्कार

 हरिद्वार। उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय, ऋषिकुल परिसर स्थित महामना मदन मोहन मालवीय प्रेक्षागृह में प्रथम बार शास्त्रीय वेदोक्त विधि से विश्वविद्यालय के दोनों परिसर(ऋषिकुल, गुरुकुल) के स्नातकोत्तर बैच २०१९-२० का शिष्य उपनयन संस्कार में दीक्षा प्रदान कार्यक्रम को कोरोना गाइड लाइन का सम्पूर्ण पालन करते हुऐ किया गया। इस अवसर विश्वविद्यालय की ओर से कोरोना वारियर और ऋषिकुल परिसर के उत्कृष्ट कर्मचारियों को भी प्रमाणपत्र और मोमेंटो के साथ सम्मानित किया गया। इस अवसर पर उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर डॉ सुनील कुमार जोशी, मुख्य अतिथि कुलपति गुरुकुल कांगड़ी प्रो रूप किशोर शास्त्री, स्वामी नित्यानन्द सरस्वती जी महाराज, उपाध्यक्ष उत्तराखंड संस्कृत अकादमी प्रो प्रेमचन्द्र शास्त्री, ऋषिकुल परिसर निदेशक प्रो० डॉ अनूप कुमार  गक्खड़,परिसर निदेशक गुरुकुल प्रो अरुण कुमार त्रिपाठी, पूर्व निदेशक डॉ चमोली ने नव आगंतुक विद्यार्थियों को अशीर्वाचन देते हुए भविष्य के लिए शुभकामनायें दी। कार्यक्रम संचालन  प्रो नरेश चैधरी ने और मुख्य संयोजक के रूप प्रो अजय कुमार गुप्ता मुख्य योगदान दिया।  कार्यक्रम के अंत में उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो सुरेश चैबे ने उपस्थित मंचासीन पदाधिकारियों,तीनो परिसर से आये शिक्षकों,अतिथियों,छात्र -छात्राओं, कर्मचारियों  का धन्यवाद करते हुए कार्यक्रम का समापन किया। इस अवसर पर प्रो अजय गुप्ता, प्रो नरेश चैधरी , प्रो एस०पी० वशिष्ठ, प्रो ओ पी सिंह, प्रो के के शर्मा,प्रो खेमचंद, डॉ शोभित वाष्र्णेय, डॉ विशाल वर्मा,डॉ सौरमी, डॉ सविता आदि उपस्थित रहे।